पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गैंगस्टर के कहने पर की थी टांटिया हॉस्पिटल पर फायरिंग:पुलिस ने किया एक आरोपी को गिरफ्तार, दो अन्य भी पुलिस जांच के घेरे में, पंजाब के गैंगस्टर ने करवाई थी फायरिंग

श्रीगंगानगर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीगंगानगर में पुलिस की गिरफ्त में आरोपी। - Money Bhaskar
श्रीगंगानगर में पुलिस की गिरफ्त में आरोपी।

इलाके के प्रमुख मेडिकल इंस्टिट्यूट टांटिया हॉस्पिटल में बीस जनवरी को फायरिंग पंजाब में एक गैंग से जुड़े गैंगस्टर ने करवाई थी। इसके लिए उसने श्रीगंगानगर के रहने वाले एक व्यक्ति से संपर्क किया। श्रीगंगानगर के इस व्यक्ति ने ही इस घटना के लिए अपने दो साथियों को चुना और बीस जनवरी को अल सुबह टांटिया अस्पताल पर फायरिंग कर दी।

गनीमत यह रही कि वारदात में कोई नुकसान नहीं हुआ। आरोपियों ने अल सुबह करीब पांच बजे उस समय फायरिंग की जब अस्पताल के सुखाड़िया मार्ग की तरफ के हिस्से में कोई व्यक्ति नहीं था। वारदात करवाने के पीछे पंजाब के गैंगस्टर का इरादा क्या था इस बारे में अब तक कोई खुलासा पुलिस ने नहीं किया है। पकड़े गए आरोपी से अभी पूछताछ की जा रही है। इसके दो अन्य साथियों को भी राउंडअप किया गया है।

पंजाब के सचिन थापन ने करवाई फायरिंग

टांटिया हॉस्पिटल पर यह फायरिंग पंजाब के गैंग से जुड़े सचिन थापन ने करवाई थी। पुलिस अधिकारियों ने मंगलवार शाम खुलासा करते हुए बताया कि घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज देखे और टैक्निकल सपोर्ट जुटाया तो शक की सुई पंजाब के किसी गैंग की ओर गई।

जांच की तो मामले में श्रीगंगानगर के किसी व्यक्ति के शामिल होने की बात सामने आई। इस पर इस मामले में पुरानी आबादी के वार्ड 19 शनि मंदिर के पास रहने वाले विशाल पचार उर्फ बबलू पचार को पकड़ा। विशाल मूल रूप से हनुमानगढ़ जिले के संगरिया थाना क्षेत्र के गांव बोलांवाली का रहने वाला है।

उससे पूछताछ की तो मामले में पंजाब के गैंग का हाथ होने की बात सामने आई। उसने पूछताछ में बताया कि वह एक शराब ठेके पर सेल्समैन का काम करता है। वह पिछले काफी समय से अबोहर के दुतारांवाली निवासी सचिन थापन के संपर्क में था। सचिन ने उसे टांटिया हॉस्पिटल पर फायरिंग के लिए कहा। उसने विशाल के साथ अन्य युवक भेजकर टांटिया अस्पताल पर फायरिंग करवाई।

इस मामले में पुलिस ने पंजाब के फाजिल्का जिले के थाना बहाववाला क्षेत्र की अबोहर तहसील के गांव भागू निवासी दीपक जाखड़ पुत्र सज्जन कुमार तथा श्रीगंगानगर जिले के घमूड़वाली थाना क्षेत्र के गांव जोड़किया (83 एलएनपी) निवासी मंगेश बिश्नोई को भी पकड़ा है। पुलिस अभी सचिन थापन की गैंग के संबंध में जांच कर रही है। कुछ अन्य आरोपियों को ट्रेस आउट कर लिया गया है। पंजाब टीमें भेजकर उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। सचिन ने यह फायरिंग क्यों करवाई। इस बारे में अभी भी स्थिति स्पष्ट नहीं है।