पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बच्चों से पूछेंगे-ऑनलाइन क्लास लगी है या नहीं?:शिक्षा विभाग हर स्कूल के बच्चों को करेगा फोन,आरटीई भुगतान के लिए विभाग ने तय किया फार्मूला

हनुमानगढ़9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डेमो फोटो। - Money Bhaskar
डेमो फोटो।

शिक्षा विभाग के अधिकारी बच्चों को फोन कर पूछेगे कि उनकी ऑनलाइन क्लास लगी है या नहीं? इस तरह सभी क्लास के बच्चों से ऑनलाइन क्लास की जानकारी ली जाएगी। प्राइवेट स्कूलों को आरटीई राशि का भुगतान करने से पहले जांच की जाएगी। 17 दिसम्बर तक जांच रिपोर्ट निदेशालय को भेजी जाएगी।

शिक्षा विभाग ने कोरोना के दौरान 2020-21 के सत्र में स्कूलों में हुई ऑनलाइन पढ़ाई के सत्यापन के लिए यह तरीका अपनाया है। इससे पहले अधिकारी खुद स्कूलों में जाकर जांच करते थे। स्कूल की डिटेल का मिलान क्लास में मौजूद बच्चों की संख्या से किया जाता था। कोविड में बच्चे स्कूल में नहीं आए इसलिए भौतिक सत्यापन नहीं हो पाया था।

तीन स्कूलों पर एक अधिकारी
आरटीई प्रभारी ने बताया कि आरटीई भुगतान के लिए फोन से सत्यापन के आदेश आए हैं। यह प्रक्रिया निदेशालय स्तर पर होगी। उन्होंने बताया कि शिक्षा विभाग की ओर से जारी निर्देशों के अनुसार जांच के लिए तीन स्कूलों पर एक अधिकारी लगाया जाएगा। अधिकारी स्कूल की हर कक्षा के पांच बच्चों को फोन करके पूछेगा कि उनकी ऑनलाइन क्लास लगी है या नहीं? किसी बच्चे के फोन न उठाने पर छठे बच्चे को फोन किया जाएगा। इस तरह सभी क्लास के बच्चों से ऑनलाइन क्लास की जानकारी ली जाएगी।

17 दिसम्बर तक जांच रिपोर्ट निदेशालय को भेंजेगे
कोविड के समय फीस न आने से दिक्कत झेल रहे स्कूल संचालकों को अब आरटीई का भुगतान जल्दी मिलने की उम्मीद नहीं है। तय टाइम लाइन के अनुसार 17 दिसम्बर तक जांच रिपोर्ट निदेशालय को जाएगी। इसके बाद ही आरटीई के भुगतान की रूपरेखा बनेगी।