पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भाखड़ा सिंचित क्षेत्र में एक सप्ताह के लिए बढ़ाई बंदी:बारिश के बाद लिया निर्णय, गेहूं के पकाव के लिए फायदेमंद साबित होगा नया रेगुलेशन

हनुमानगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भाखड़ा सिंचित क्षेत्र में एक सप्ताह के लिए बढ़ाई बंदी गई। - Money Bhaskar
भाखड़ा सिंचित क्षेत्र में एक सप्ताह के लिए बढ़ाई बंदी गई।

हनुमानगढ़ जिले में सिंचाई पानी की उपलब्धता और मावठ के बाद बनी स्थितियों को देखते हुए भाखड़ा सिंचित क्षेत्र में रेगुलेशन को लेकर बड़ा निर्णय लिया गया है। मावठ के बाद अब भाखड़ा की नहरों में बंदी की अवधि एक हफ्ते के लिए बढ़ा दी गई है। भाखड़ा सिस्टम की नहरों में अब 2 की बजाय 9 फरवरी तक बंदी रहेगी। इसके बाद 25 फरवरी तक 1200 क्यूसेक पानी चलाकर एक-एक बारी पानी और दिया जाएगा। सिंचाई विभाग से मिली जानकारी के अनुसार भाखड़ा सिस्टम के सभी जनप्रतिधियों व जल उपयोक्ता संगम अध्यक्षों से भी सहमति ली गई है। इससे पहले भी अच्छी बारिश के चलते जनप्रतिनिधियों ने तय समय से पहले ही 21 दिन की बंदी ले ली थी। अब इसे सात दिन के लिए आगे बढ़ाया गया है।

गेहूं की फसल पकने में आसानी
कृषि विशेषज्ञों के अनुसार पिछले दिनों हुई बारिश से सरसों, गेहूं व अन्य रबी फसलों को फायदा हुआ। अब सरसों करीब-करीब पक कर तैयार हो रही है। सिंचाई पानी की जरूरत गेहूं की फसल के लिए है। एक मोटे अनुमान के मुताबिक श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ जिले में भाखड़ा सिस्टम से सिंचित क्षेत्र में करीब एक लाख हेक्टेयर इलाके में गेहूं की बिजाई हुई है। आने वाले दिनों में तापमान बढ़ने पर गेहूं के पकाव के लिए सिंचाई पानी की जरूरत होगी। यही वजह है कि जनप्रतिनिधियों ने रेगुलेशन से संबंधित निर्णय लिया है।

खबरें और भी हैं...