पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पर्यटक स्थलों की खासियतों को सामने रखेंगे:ट्रैवल ब्लॉगर्स ने जाना हर्ष पर्वत का इतिहास, बोले-सुविधाएं बढ़ें ताे विकास की राह खुले

सीकर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हर्षनाथ भैरव मंदिर में ब्लॉगर। - Money Bhaskar
हर्षनाथ भैरव मंदिर में ब्लॉगर।

कोरोना संक्रमण के कारण प्रभावित हुए पर्यटन उद्योग को वापस पटरी पर लाने व देशी-विदेशी सैलानियों को लुभाने के लिए पर्यटन विभाग की ओर से आए ट्रेवल ब्लॉगर्स ने हर्ष पर्वत का भ्रमण किया। ब्लॉगर्स प्रिंट व डिजिटल मीडिया के माध्यम से शेखावाटी के पर्यटक स्थलों की खासियतों को सामने रखेंगे।

ट्रैवल राइटर दीपक दुआ ने बताया कि हर्ष का पर्वत अपने आप में अलग है, मेरी नजर में हर्ष अपने शौर्य के साथ आधात्यामिक केंद्र है। हर्ष एक अहसास है, जाे सीकर आकर प्रत्येक पर्यटक को अनुभव करना चाहिए। पर्वत पर पर्यटकाें के लिए सुविधाओं का विकास हो रहा है जिससे आने वाले समय में पर्यटकों का आवागमन बढ़ेगा। इससे जिले को नई पहचान मिलेगी। ब्लॉगर आश्ना मालानी ने कहा यहाँ की मूर्तियों को देखने से पता चलता है कि इनमे लौकिक और धार्मिक दोनों विषयों से सम्बंधित मूर्तियां परिलक्षित होती हैं। लौकिक विषयों में नर्तक-नाटकी, गायक-गायिकाएं, योद्धा, हाथी, सामान्य सैनिक, अप्सराएं, शाल-भंजिकाएं, दासियां आदि की कलापूर्ण मूर्तियाँं हैं। दैविक विषयों में अनेक रूपों में विष्णु, इन्द्र, शिव, शक्ति, गणेश, कुबेर अच्छी प्रतिमाएं है। पर्यटन विभाग की सहायक निदेशक अनु शर्मा ने कहा कि ब्लॉगर्स ने हर्ष पर्वत के फाेटाे- वीडियो शूट किया। ब्लॉगर्स एवं राइटर्स ने हर्ष पर्वत की प्राकृतिक खूबसूरती के नजारों काे कैमरे में कैद किया है। शेखावाटी की खूबसूरती को नए नजरिए से देश-दुनिया के समक्ष लाएंगे। इससे पर्यटक आकर्षित होंगे। ब्लॉगर्स की टीम शुक्रवार काे खंडेला एवं नीमकाथाना अाएगी, इसके बाद ये दिल्ली के लिए प्रस्थान करेंगे।

खबरें और भी हैं...