पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राजस्थान में तैयार हो रहा एक और मिल्खा सिंह:16 साल की उम्र में जीता गोल्ड मेडल, कभी स्पोट्‌र्स छोड़ने का बना लिया था मन

सीकरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मिल्खा सिंह बनेगा क्या दौड़कर? लोग हंसते और मजाक उड़ाते थे, क्यों फालतू रुपए लगा रहा है। खेल से किसे फायदा हुआ है? इन तानों को अनसुना कर 16 साल का छोरा दौड़ता रहा और नेपाल में हुए नेशनल गेम में पाकिस्तान के खिलाड़ी को पछाड़कर गोल्ड जीत लिया।

सीकर के चैनपुरा दादली के रहने वाले एथलीट अमित योगी ने अपने खेल से लोगों के तानों का माकूल जवाब दिया। नेशनल गेम्स में 200 मीटर की रेस में सफल होने के बाद अब अमित का सपना 2024 में होने वाले ओलिंपिक में भाग लेने का है। वह दुनिया के सबसे बड़े खेल आयोजन में गोल्ड जीतना चाहते हैं। अमित ओलिंपिक में किसी भारतीय एथलीट के रेस में गोल्ड मेडल जीतने का मिल्खा सिंह का सपना पूरा करना चाहते हैं।

अमित रोज सुबह-शाम प्रैक्टिस करते हैं। उन्होंने तीन साल पहले दौड़ना शुरू किया था।
अमित रोज सुबह-शाम प्रैक्टिस करते हैं। उन्होंने तीन साल पहले दौड़ना शुरू किया था।

खेल छोड़ने का बना लिया था मन
अमित अभी 11वीं क्लास में पढ़ाई कर रहे हैं। तीन साल पहले दौड़ना शुरू किया था। गांव में ट्रैक नहीं होने के कारण परेशानी होती थी। इस कारण वह गांव से सीकर आ गए और शिवाय एकेडमी में प्रैक्टिस करना शुरू कर दिया। शुरूआत में यू-ट्यूब पर वीडियो देखकर प्रैक्टिस की। अमित ने बताया कि 2021 में भोपाल में हुए गेम्स के दौरान पैर में चोट लग गई थी। चोट के कारण चलना भी मुश्किल था। इस कारण गेम छोड़ने का मन बना लिया था। तब दोस्तों ने हौसलाअफजाई की। हिम्मत बढ़ाई। इससे वापस दौड़ना शुरू किया। अमित का कहना है कि दोस्तों के भरोसे के कारण ही नेपाल में पाकिस्तान के खिलाड़ी को हराकर गोल्ड अपने नाम कर पाया।

गांव वालों ने उड़ाया मजाक
अमित की मां विमला देवी ने बताया कि शुरूआत में जब अमित ने दौड़ना शुरू किया तो गांव वाले मजाक उडाया करते थे। उस पर हसंते थे। बार-बार उनको कहते थे कि क्यों फालतू की चीजों में रुपए बर्बाद कर रहे हो। खेल से किसी को कोई फायदा नहीं होता। जो लोग कहते थे, क्या मिल्खा सिंह बनेगा, अब वही सब तारीफ करते हैं।

अपने बेटे के मेडल देखकर मुस्कराती मां विमला देवी।
अपने बेटे के मेडल देखकर मुस्कराती मां विमला देवी।

स्टेट और नेशनल गेम्स में जीते गोल्ड मेडल
अमित योगी ने स्टेट और नेशनल गेम्स में गोल्ड मेडल जीता है। 2021 जुलाई में गंगानगर में हुए गेम में गोल्ड मेडल जीता। 2021 अक्टूबर में भोपाल में भी गोल्ड मेडल अपने नाम किया। 2022 जनवरी में भुवनेश्वर में गोल्ड मेडल जीता। 2022 में 4 से 8 मई तक हुए नेशनल गेम्स में क्वालिफाई मुकाबले में पाकिस्तान के खिलाड़ी को हराकर गोल्ड अपने नाम किया। अब अमित योगी आगे आने वाले ओलिंपिक के लिए तैयारी कर रहे हैं। अमित रोज सुबह 4 से 6.30 और शाम को 5 से 7 बजे तक लगातार प्रैक्टिस कर रहे हैं।