पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऑनलाइन क्राइम सीन देखकर महिला को लूटा:घर में घुसकर बुजुर्ग के हाथ-पैर बांधकर पीटा, तीन को पकड़ा

सीकर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस गिरफ्त में आरोपी। - Money Bhaskar
पुलिस गिरफ्त में आरोपी।

घर में अकेली सो रही बुजुर्ग के हाथ-पांव बांधकर जेवरात लूटने के मामले में पड़ोसी ही आरोपी निकले। मामले में पकड़े गए तीनों आरोपियों ने ऑनलाइन क्राइम सीन देखकर लूट का प्लान बनाया था। तीनों रात के समय घर में घुसे और सो रही बुजुर्ग महिला के मुंह में कपड़ा ठूस दिया। उसके बाद मारपीट कर जेवरात लूटकर भाग गए। पुलिस ने तीनों को पकड़कर लूटे गए जेवरात भी बरामद किए है।

सीकर के दादिया थाने में मोहिनी देवी ने रिपोर्ट दर्ज करवाई कि उसके पति का देहांत हो चुका है और कोई संतान नहीं है। इस कारण वह घर में अकेली रहती है। 25 जून को रात एक बजे जब वह घर में सो रही थी। उस दौरान एक मोटे आदमी ने उसके मुंह को दबा दिया और इसके बाद मुंह में तोलिया ठूस दिया। हाथ-पैर भी बांध दिए। जब आरोपी ने उससे रुपयों की डिमांड की तो आवाज उसके घर के पीछे ननिहाल आए प्यारेलाल की थी। रुपए नहीं होने की बात पर वृद्धा के साथ बदमाश ने मारपीट की। आरोपी मंगलसूत्र और पैरों की चांदी की पायजेब निकालकर भाग गया।

पड़ोसी ही निकले आरोपी

घटना के बाद पुलिस अलर्ट हो गई और रिपोर्ट के आधार पर बदमाशों की तलाश शुरू कर दी। पुलिस प्यारेलाल के पास पहुंची। तब पता चला कि वृद्धा के पास में रहने वाले दो अन्य पड़ोसी मुकेश और नरेन्द्र भार्गव भी इस लूट में शामिल थे।

वारंट से बचने के लिए ननिहाल आया था आरोपी

थानाधिकारी विजेन्द्र सिंह ने बताया कि आरोपी प्यारेलाल अपने ननिहाल कोलिडा आया हुआ था। प्यारेलाल ने अपनी पत्नी को भी छोड़ रखा है। जिसके कारण उसकी पत्नी ने उस पर हरियाणा में केस भी कर रखा है। पेशी पर नहीं जाने के कारण कोर्ट ने उसके खिलाफ वारंट जारी कर रखा है। अपने आपको बचाने के लिए प्यारेलाल कोलिडा ननिहाल में रह रहा था। वृद्धा के मकान के पास ही मुकेश कुमार और नरेन्द्र भार्गव भी रहते है। तीनों ने मिलकर शनि मंदिर कोलिडा में बैठकर लूट का प्लान बनाया था।

ऑनलाइन क्राइम सीन देखकर बनाया प्लान

थानाधिकारी विजेन्द्र सिंह ने बताया कि बदमाशों ने ऑनलाइन क्राइम सीन देखकर लूट का प्लान बनाया। मुकेश कुमार के पिता रामोवतार दिहाड़ी मजदूरी करते है। पिता का कर्जा उतारने के लिए मुकेश भी वारादत करने में शामिल हो गया। वृद्धा मोहिनी देवी के पड़ोस में रहने वाले नरेन्द्र भार्गव का वृद्धा के घर पर आना जाना था। जिसके कारण नरेन्द्र ने वृद्धा के मन में पूरा विश्वास कायम कर रखा था। नरेन्द्र भार्गव एफआईआर दर्ज करवाने भी वृद्धा के साथ थाने गया था ताकि उस पर किसी को कोई शक नहीं हो।

लूटे गए जेवरात किए बरामद

तीनों आरोपियों की पहचान कर पुलिस ने कोलिडा से बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। वहीं पूछताछ में सभी ने अपना जुर्म भी कबूल कर लिया।पुलिस ने आरोपियों के पास से वृद्धा से लूटे गए जेवरात भी बरामद कर लिये।वहीं पुलिस तीनों बदमाशों को अब कोर्ट में पेश करेगी।