पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX58461.291.35 %
  • NIFTY17401.651.37 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47394-0.41 %
  • SILVER(MCX 1 KG)60655-1.89 %
  • Business News
  • Local
  • Rajasthan
  • Tourism Sector Is The First Choice, 'Invest Rajasthan 2022' Will Be Held In Jaipur In January 2022, Swiss Ambassador Discussed With CM Gehlot

राजस्थान में निवेश करना चाहते हैं स्विस इन्वेस्टर्स:टूरिज्म का सेक्टर है पहली पसंद, जनवरी 2022 में जयपुर में होगा ‘इन्वेस्ट राजस्थान-2022’,स्विस राजदूत ने सीएम गहलोत से की चर्चा

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राजस्थान में निवेश करना चाहते हैं स्विस इन्वेस्टर्स।

स्विस निवेशक राजस्थान में इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं। स्विटजरलैंड और राजस्थान दोनों टूरिज्म सेक्टर में अपनी पहचान और विशेषज्ञता रखते हैं। ऐसे में दोनों एक दूसरे के स्पेशियलाइजेशन का फायदा उठाते हुए और आगे बढ़ सकते हैं। राजस्थान में स्विस निवेश की सम्भावनाओं पर चर्चा करने मुख्यमंत्री निवास पर स्विटजरलैंड के राजदूत ने सीएम गहलोत से शिष्टाचार मुलाकात की। जिसमें टूरिज्म सेक्टर में इनवेस्टमेंट पर खास तौर पर चर्चा हुई। राजस्थान में निवेश को बढ़ावा देने के लिए 20 और 21 जनवरी, 2022 को जयपुर में स्टेट इन्वेस्टर समिट ‘इन्वेस्ट राजस्थान-2022’ होने जा रहा है। जिसमें स्विस निवेशक भी हिस्सा लेने की तैयारी में जुटे हैं।

मुख्यमंत्री से चर्चा करते स्विस राजदूत डॉ रॉफ हैकनर।
मुख्यमंत्री से चर्चा करते स्विस राजदूत डॉ रॉफ हैकनर।

इन्वेस्ट राजस्थान-2022’ में टूरिज्म क्षेत्र में इन्वेस्ट करने में दिलचस्पी

स्विस राजदूत डॉ रॉफ हैकनर ने मुख्यमंत्री को बताया कि निवेश की बड़ी सम्भावनाओं और ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के लिए राजस्थान सरकार की ओर से लगातार लिए जा रहे फैसलों से स्विस कम्पनियों और निवेशकों में भी पॉजिटिव मैसेज गया है। स्विस इंवस्टर्स इस समिट में हिस्सा लेने के लिए दिलचस्पी दिखा रहे हैं।हैकनर ने बताया कि टूरिज्म के क्षेत्र में स्विट्जरलैंड दुनिया का एक अग्रणी देश है। इसी तरह राजस्थान भी टूरिस्ट्स के आकर्षण का प्रमुख केन्द्र है। टूरिज्म के क्षेत्र में राजस्थान और स्विट्जरलैंड एक-दूसरे की विशेषज्ञता का फायदा उठाते हुए और भी आगे बढ़ सकते हैं।

सीएम ने कहा निवेश के लिए राज्य ने बनाई हैं कई पॉलिसी

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में निवेश को बढ़ावा देने के लिए कई अहम फैसले लिए हैं।इनमें एमएसएमई एक्ट-2019, राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना (रिप्स-2019), राजस्थान इंडस्ट्रियल डवलपमेंट पॉलिसी-2019, सोलर एंड विण्ड पॉलिसी, वन स्टॉप शॉप सिस्टम जैसी कई महत्वपूर्ण नीतियां और कार्यक्रम लागू किए हैं। इन पॉलिसी बेस्ड सुधारों से राजस्थान में निवेश का बेहतर माहौल तैयार हुआ है। मुख्यमंत्री और स्विस राजदूत के बीच हुई चर्चा में इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में आपसी सहयोग पर भी चर्चा हुई। हैकनर ने राज्य में ई-गवर्नेंस के क्षेत्र में किए जा रहे इन्नोवेशन और सुधारों की तारीफ की।

खबरें और भी हैं...