पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गले मिलकर सरकार गिरा सकते हैं हमारे अद्भुत प्रधानमंत्री:बीजेपी विधायक सराफ का वॉट्सऐप मैसेज; मोदी ने जिसे गले लगाया, उसकी सरकार गई

जयपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बीजेपी विधायक कालीचरण सराफ के नंबर से कई लोगों को यह मैसेज भेजा गया है।

पूर्व मंत्री और बीजेपी विधायक कालीचरण सराफ ने वॉट्सऐप मैसेज कर पीएम मोदी पर तंज कसा है। मैसेज में लिखा है, 'मोदी ने जिसे भी गले लगाया, उसकी सरकार गिर गई। राहुल गांधी गले मिले तो उनका अध्यक्ष पद चला गया। अब मोदीजी को शीजिनपिंग, इमरान खान, केजरीवाल, उद्धव ठाकरे को भी गले लगाना चाहिए। सराफ के नंबर से कई लोगों को यह मैसेज भेजा गया है।'

यह मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। मैसेज में व्यंग्यात्मक लहजे से पीएम मोदी की 'हग डिप्लोमैसी' पर सवाल उठाया गया है।

बीजेपी विधायक कालीचरण सराफ का वॉट्सऐप मैसेज
बीजेपी विधायक कालीचरण सराफ का वॉट्सऐप मैसेज

अब जिनपिंग,इमरान के भी गले लगे
मैसेज में आगे लिखा है- और राहुल गांधी, जो ठीक-ठाक कर रहे थे। बस जाने क्या सूझी। संसद में जाकर मोदी के गले लगे और उनका पार्टी अध्यक्ष पद खत्म। इसे कहते हैं अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारना। जिसने मुझे ये संदेश भेजा है, उसने हमारे पीएम से इन लोगों को गले लगाने का अनुरोध भेजा है- शी जिनगपिंग, इमरान खान, केजरीवाल,उद्धव ठाकरे। आशा है कि पीएम सर इस अनुरोध पर विचार करेंगे।
विवाद बढ़ा तो दी सफाई
मोदी पर तंज वाला मैसेज भेजने के बाद विधायक कालीचरण सराफ ने शुरुआत में कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। फिर कहा- 'आजकल चुटकुले मैसेज वायरल हो जाते हैं। मेरे नाम से किसी ने भेज दिया होगा। मैं तो सोशल मीडिया देखता ही नहीं। हालांकि मैसेज सराफ के खुद के नंबरों से भेजा गया है। बाद में कहा, जिस मैसेज की चर्चा हो रही है वह बच्चों ने कर दिया। मोबाइल छोटे बच्चों के पास चला गया था, उन्होंने कहीं से आए हुए मैसेज को सब जगह भेज दिया। मेरी तो आज तबीयत खराब थी, इसलिए सो गया था, मैसेज कब भेज दिया पता ही नहीं लगा।'
मैसेज के सियासी मायने
बीजेपी कार्य समिति की 5 दिसंबर को जयपुर में होने वाली बैठक से ठीक पहले इस मैसेज की सियासी हलकों में खूब चर्चा है। अमित शाह 5 दिसंबर को बीजेपी कार्य समिति और जनप्रतिनिधि सम्मेलन को संबोधित करेंगे। इससे ठीक पहले पीएम पर तंज वाले मैसेज के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं।
वसुंधरा समर्थक सराफ सात बार के विधायक हैं
कालीचरण सराफ पूर्व सीएम वसुंधरा राजे खेमे के हैं। सराफ वसुंधरा राजे सरकार के समय उद्योग और उच्च शिक्षा मंत्री रहे हैं। कालीचरण सराफ सात बार के विधायक हैं। मालवीय नगर से लगातार जीत रहे हैं। सराफ मौजूदा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया के विरोधी हैं। कालीचरण सराफ के पीएम मोदी पर तंज वाले मैसेज की टाइमिंग भी गौर करने लायक है।

खबरें और भी हैं...