पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Rajasthan
  • PCC Executive Will Be Expanded, District block Presidents Will Be Appointed, Thousands Of Workers Will Be Adjusted

दिसंबर में संगठन में होंगी नियुक्तियां:अपने नेताओं को संगठन में भी पद दिलाना चाहते हैं पायलट, डोटासरा 2 दिन के दिल्ली दौरे पर

जयपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान में मंत्रिमंडल पुनर्गठन और रिशफलिंग के बाद अब प्रदेश कांग्रेस संगठन में विस्तार की तैयारी शुरू हो गई है। ऐसा माना जा रहा है कि दिसंबर में सरकार के तीन साल पूरे होने से पहले अधिकांश नियुक्तियां कर दी जाएंगी। इसके लिए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा दो दिन दिल्ली दौरे पर रहेंगे। मंत्री पद छोड़ने के बाद वे पहली बार दिल्ली जा रहे हैं।

प्रदेश संगठन में होने जा रही नियुक्तियों में पार्टी के कई नाराज नेताओं-कार्यकर्ताओं को एडजस्ट किया जाएगा।डोटासरा दिल्ली में प्रदेश प्रभारी अजय माकन से पीसीसी कार्यकारिणी के विस्तार, जिलाध्यक्ष और ब्लॉक अध्यक्ष की नियुक्तियों पर चर्चा करेंगे। जिला और ब्लॉक अध्यक्ष के बाद उनकी कार्यकारिणी भी बनाई जाएगी। इन नियुक्तियों के जरिए हजारों कांग्रेस नेताओं, कार्यकर्ताओं को पद और सम्मान दिया जाएगा, ताकि दो साल बाद होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए संगठन को सक्रिय किया जा सके।

पीसीसी कार्यकारिणी पर भी मंथन
प्रदेश प्रभारी अजय माकन की जयपुर में सीएम अशोक गहलोत और पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा के साथ बैठकर भी संगठन पर चर्चा हुई है। अब डोटासरा और अजय माकन राजस्थान से तैयार संगठन की लिस्ट को मंजूरी दिलाने के लिए राष्ट्रीय संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल को सौंपेंगे। सूत्र बताते हैं कि पूर्व डिप्टी सीएम और पीसीसी चीफ रहे सचिन पायलट अपने खेमे के नेताओं काे पीसीसी और जिलों की कार्यकारिणी में भी एडजस्ट करना चाहते हैं। ऐसे में कांग्रेस आलाकमान पायलट से भी चर्चा करेगा।

केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन का रोड मैप भी होगा तैयार
कांग्रेस आलाकमान ने सभी प्रदेश कांग्रेस कमेटियों को महंगाई और पेट्रोलियम की बढ़ी कीमतों को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ धरने-प्रदर्शन का टास्क दिया है। तीन कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद कांग्रेस किसान आंदोलन में किसानों की मौत और अब तक हुए नुकसान का मुद्दा भी उठा रही है। इसे केंद्र सरकार की बड़ी विफलता के तौर पर जनता में भुनाने की प्लानिंग है। केंद्र की मोदी सरकार के 7 साल से ज्यादा के कार्यकाल की विफलता जनता के बीच ले जाने की तैयारी कांग्रेस पार्टी की ओर से की जा रही है। राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है, इसलिए राज्य में बड़े लेवल पर आंदोलन और धरने-प्रदर्शन के कार्यक्रमों को रोड मैप भी तैयार किया जा रहा है।