पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Rajasthan
  • Dr. Sambit Patra Said: In UP, It Is Said That I Am A Girl, I Can Fight, If I Am A Girl, Then It Is Forbidden To Fight

अलवर गैंगरेप मामले में राजनीति शुरू:संबित पात्रा का प्रियंका गांधी पर निशाना, बोले- यूपी में लड़की लड़ सकती है, राजस्थान में लड़ना मना है

जयपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अलवर गैंगरेप मामले में अब राजनीति शुरू हो गई है। शुक्रवार को दिल्ली में डॉ. संबित पात्रा ने प्रेस काॅन्फ्रेंस कर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधा। संबित पात्रा ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि राजस्थान की निर्भया आईसीयू में है और जीवन के लिए लड़ रही है, लेकिन यह जानकर आश्चर्य होता है जब यह घटना घट रही थी, तब प्रियंका गांधी राजस्थान में ही अपना बर्थडे मना रहीं थीं। वे पीड़िता से मिलने भी नहीं जा पाईं।

संबित पात्रा ने कहा कि प्रियंका गांधी यूपी में कहती हैं- लड़की हूं, लड़ सकती हूं। राजस्थान में लड़की हूं तो लड़ना मना है। राजस्थान में चुप रहना ही पड़ेगा क्योंकि यहां कांग्रेस की सरकार है। वे उन्नाव जा सकती हैं, लेकिन राजस्थान में नहीं जा सकतीं। उन्होंने राहुल गांधी पर भी तंज कसते हुए कहा कि राहुल गांधी से सवाल पूछना उचित नहीं है। वे खुद अपने आप को फेल मान चुके हैं।

सीएम से रिपोर्ट क्यों नहीं मांगी?
संबित पात्रा ने कहा कि उप्र में रेप विक्टिम को चुनाव में टिकट देने वाली प्रियंका गांधी घटना के बाद भी अपने पति रॉबर्ट वाड्रा के साथ रणथंभौर में थीं और अपना जन्मदिन मना रहीं थीं। बीजेपी के सांसद और राजस्थान की टीम को पता चला तो वे उनसे मिलने पहुंचे, लेकिन उन्हें मिलने नहीं दिया। प्रियंका गांधी बताएं कि क्या उन्होंने अपने सीएम से रिपोर्ट मांगी। राजस्थान में महिलाओं पर अत्याचार क्यों बढ़ रहे हैं ? नाबालिग का अच्छे से अच्छा इलाज करवाया जाए।

सिलेक्टिव राजनीति न करें प्रियंका
पात्रा ने कहा कि प्रियंका गांधी का इस तरह की सिलेक्टिव राजनीति करना गलत है। दूसरे राज्यों में जहां आपकी सरकार नहीं है, वहां आप आवाज उठाते हैं, लेकिन आपकी सरकार वाले राज्यों में इतना जघन्य अपराध होता है और आप पीड़िता से मिलने तक नहीं जातीं।

सीएम और ममता भूपेश पर निशाना, कहा- माफी मांगे
संबित पात्रा ने सीएम अशोक गहलोत व महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि ममता भूपेश का बयान सुनकर आश्चर्य हुआ। भूपेश कहती हैं कि ऐसे मामले रोकने के लिए सरकार अकेले यह काम नहीं कर सकती है। इसमें समाज को भी आगे आना होगा। संबित पात्रा ने कहा कि महिला होकर इस तरह के स्टेटमेंट देना जाहिर करता है कि सरकार कहीं न कहीं जिम्मेदारी से मुंह मोड़ रही है।

वहीं भूपेश के दरिंदों के तिलक लगाने वाले बयान पर उन्होंने कहा कि आपने धर्म विशेष को रेपिस्ट के साथ जोड़ा। तिलक को रेप के साथ जोड़ना कहां की राजनीति है? मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और ममता भूपेश को इस बयान पर माफी मांगना चाहिए।

ममता भूपेश बोलीं- दरिंदे का जाति-धर्म नहीं होता
ममता भूपेश ने संबित पात्रा पर पलटवार करते हुए कहा कि मेरे बयान को बीजेपी के लोग धर्म से जोड़ रहे हैं। जो दरिंदे हैं, उनकी कोई जाति, धर्म, बिरादरी, समाज नहीं होता है। दरिंदे की अलग मानसिकता होती है। विक्षिप्त मानसिकता के लोग दरिंदे हैं, इसलिए हम सब लोगों को समाज में परिवर्तन लाना होगा। साथ ही यह सोचने की जरूरत है कि बच्चियों के लिए सुरक्षित और सम्मान का माहौल कैसे बना पाएं।

खबरें और भी हैं...