पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कपिल मिश्रा बोले- श्रद्धा हत्याकांड पर गहलोत का बयान अफसोसजनक:कहा- पीड़िता का नाम शबनम होता तो वारदात को दुर्घटना नहीं कहते

जोधपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विश्व संवाद केंद्र की ओर से रविवार को जोधपुर के एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज में एकदिवसीय सनसिटी सोशल मीडिया कन्वेंशन शुरू हुआ। कार्यक्रम में दिल्ली भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने छद्म आतंकवाद, जिहाद पर विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में एक्टिविस्ट, इन्फ्लुएंसर, क्रिएटर्स सहित युवक युवतियां शामिल हुए।

इतिहास पर सवाल उठाते हुए कपिल मिश्रा ने कहा कि हम युद्ध के मैदानों में इतना पराजित नहीं हुए, जितना इतिहास की किताबों में हुए हैं। हमारे दिमाग में ये बैठा दिया गया कि हम कमजोर हैं। झूठ फैलाया गया। पहला झूठ यह फैलाया गया कि भारत 1 हजार साल तक गुलाम रहा। लेकिन भारत 1 दिन भी गुलाम नहीं रहा। दूसरा झूठ फैलाया गया कि हिंदू कभी एक नहीं हो सकते। ये बौद्धिक आतंकवाद का दूसरा झूठ है।

मिश्रा ने कार्यक्रम के दौरान युवाओं के सवालों के जवाब भी दिए।
मिश्रा ने कार्यक्रम के दौरान युवाओं के सवालों के जवाब भी दिए।

कपिल मिश्रा ने कहा कि इंडिया पाकिस्तान का मैच चल रहा था। खिलाड़ी अर्शदीप के हाथ से कैच छूटा तो उसके कुछ देर बाद हिंदू नाम के सोशल मीडिया अकाउंट से अर्शदीप को गालियां दी गईं। बात में पता चला ये बॉर्डर पार से हो रहा था। ये आतंकवाद का नया स्वरूप है।

भारत जोड़ो यात्रा पर कपिल मिश्रा ने कहा कि जिन लोगों ने टुकड़े कराए वो भारत जोड़ो यात्रा कर रहे हैं। ये हर उस व्यक्ति को जोड़ते चले गए जिन्होंने हमारे देश और धर्म को गाली दी। दिल्ली में श्रद्धा हत्याकांड पर सीएम अशोक गहलोत के बयान पर कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत इस हत्याकांड को दुर्घटना बता रहे हैं। अगर यही हत्याकांड शबनम नाम की किसी बेटी के साथ होता तो क्या गहलोत ऐसा बोलते।

हमारे ऊपर आरोप लगा रहे हैं कि हम एक धर्म विशेष का आर्थिक बहिष्कार करेंगे। लेकिन हमारे साथ संस्थागत तरीके से आर्थिक बहिष्कार हो रहा है।