पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मनोरंजनात्मक शिक्षा के लिए एक अनूठी पहल:अराबा दुदावता स्कूल का कराया ​​​​​​​रिनोवेशन, क्लासरूम को दिया रेलवे स्टेशन का लुक

बालेसर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मनोरंजनात्मक शिक्षा के लिए एक अनूठी पहल, रेलवे स्टेशन के लुक के बनाए क्लासरूम। - Money Bhaskar
मनोरंजनात्मक शिक्षा के लिए एक अनूठी पहल, रेलवे स्टेशन के लुक के बनाए क्लासरूम।

देखने में आपको यह दिलचस्प लगेगा कि आप रेलवे स्टेशन पर खड़े हैं, जी नहीं। यह कोई रेलवे प्लेटफार्म की फोटो नहीं है, यह है राजकीय उच्च प्राथमिक स्कूल अराबा दुदावता के एक्सप्रेस भवन की फोटोग्राफी है। पेंटर की ओर से एक महीने की मेहनत से साक्षात ट्रेन के साथ रेलवे प्लेटफार्म का भी रूप दिया गया है। ग्रामीणों सहित क्षेत्र में यह स्कूल चर्चा का विषय बना हुआ है। 3D इफेक्ट के साथ तैयार पेंटिंग दूर से देखने पर ट्रेन प्रतीत होती है। कलाकारी पेंटर सलीम खान की ओर से की गई। सरपंच प्रतिनिधि गुमान सिंह राजपुरोहित व नारायण सिंह, फतेह सिंह, डूंगर सिंह, पुखराज सिंह, त्रिलोक सिंह भामाशाह की ओर से यह बिल्डिंग रंग-रोगन तैयार की गई है।

प्रिंसिपल रविंद्र गुरु ने बताया कि लोगों में सरकारी स्कूलों के प्रति जो अवधारणा बनी है कि सरकारी स्कूल में उखड़ा प्लास्टर फीके पड़े रंग के साथ जर्जर बिल्डिंग होगी। आज के टीचर जन सहयोग से यह अवधारणा को तोड़ रहे हैं। सुविधाओं के मामले में निजी स्कूलों को टक्कर दे रहे हैं। पीटीआई महेंद्र सिंह राजपुरोहित ने बताया कि स्कूल में छात्रों का नामांकन बढे़ इसको लेकर स्कूल की पूरी बिल्डिंग में ट्रेन व प्लेटफार्म का स्वरूप देखते हुए अराबा दुदावता एक्सप्रेस का नाम रखा है। इस सत्र में नामांकन में बढ़ोतरी भी हुई है, अभी स्कूल में कुल 193 नामांकन है ।

ट्रेन की प्रतिकृति हैं क्लासरूम
स्कूल की दीवारों को ट्रेन की तरह नीले रंग से ऑयल पेंट किया गया है। इसके साथ 3D इफेक्ट दिया गया। इसमें खिड़की आदि का रंग भी ट्रेनों के जैसा ही है। किस स्कूल के छात्र जब दरवाजों पर खड़े होते है, तो ऐसा लगता है यात्री ट्रेन के डिब्बे से झांक रहे है। बच्चों में भी स्कूल जाने की उत्सुकता बढ़ जाती है।

पेंटिंग के साथ-साथ रेलवे की भी जानकारी
भवन को अराबा एक्सप्रेस ट्रेन का लुक देने के साथ ही रेलवे के बारे में जितनी हो सके उतना जानकारी स्कूल के बच्चों को दिया गया है। रेलगाड़ी के विभिन्न प्रकार ट्रेन के आवागमन, प्रस्थान, सही समय सारणी, गाड़ियों के गुजरने के विवरण, आरक्षण पूछताछ, किराए, पीएनआर नंबर आदि के बारे में छात्र जागरूक हो गए है। राजपुरोहित ने बताया कि उच्च विद्यालय परिवार का कायाकल्प करने से विद्यालय में नामांकन बढा हैं, बच्चों में विद्यालय के प्रति उत्सुकता बढ़ी हैं ।