पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एक दिन बाद ही क्षतिग्रस्त हुई सड़क:ग्रामीणों ने बंद करवाया निर्माण कार्य, घटिया सामग्री के उपयोग का लगाया आरोप

खेतड़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सिंघाना पंचायत समिति के माकड़ो मोड से कुठानियां तक बनाई जा रही सड़क निर्माण कार्य के एक दिन बाद ही क्षतिग्रस्त हो गई। सड़क में घटिया सामग्री के उपयोग करने का आरोप लगाते हुए ग्रामीणों ने बुधवार को दूसरे दिन भी निर्माण कार्य को बंद करवा विरोध प्रदर्शन किया।

ग्रामीणों ने बताया कि माकड़ो मोड़ से कुठानिया जाने वाली साढ़े तीन किलोमीटर की सड़क का आरडीएफ योजना के तहत 37 लाख रुपए की लागत से निर्माण होना है। सड़क को पहले वाली टूटी सड़क को बिना तोड़े व लेवलिंग करे व बिना निर्धारित मापदंड के निर्माण कार्य करवाया जा रहा है। ग्रामीणों ने खरीटों वाला जोहड़ के पास निर्माण कार्य पर पहुंचकर ठेकेदार व पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध जताया।

ग्रामीणों ने बताया कि पिछले काफी समय के बाद साढे तीन किलोमीटर तक की सड़क का काम मंजूर हुआ है। ठेकेदार के द्वारा डाली गई एक दिन पहले सड़क वापस पूरी तरह से टूट गई। ठेकेदार ने बिना मापदंड के पहले वाली सड़क को तोड़े व बिना लेवलिंग के उसके ऊपर ही डामरीकरण का काम शुरू कर दिया। ठेकेदार के द्वारा सड़क डालने के नाम पर खानापूर्ति व घटिया स्तर का बनाया जा रहा है।

बता दें कि माकड़ो मोड़ से कुठानियां जाने वाली सड़क पर प्रसिद्ध देई माई का मंदिर है। जहां पर जात्रियों का आना-जाना लगा रहता है। टूटी सड़क के कारण यात्रियों व आमजन को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

इस संबंध में ठेकेदार राजेंद्र यादव ने बताया कि विभाग द्वारा टूटी हुई सड़क की रिपेयरिंग व गड्ढे भरकर 20 एमएम कारपेट करने के आदेश मिले थे। उसी अनुसार सड़क निर्माण का कार्य किया जा रहा था। ग्रामीणों ने विरोध कर सड़क निर्माण का कार्य बंद करवा दिया। इस संबंध में विभाग के उच्चाधिकारियों को अवगत करवा काम को बंद कर दिया गया है।

इस मौके पर बबलू बांगड़ी, सीताराम कसाना, सुधीर, श्रवण सिंह, दिपू योगी, विश्वास कसाना, शक्ति शेखावत, नरेंद्र कुमार, सुरेश, मनोज, सहीराम सहित अनेक ग्रामीण मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...