पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एक दिवसीय प्रशिक्षण का हुआ आयोजन:अटल भूजल योजना को सफल बनाने पर दिया जोर, पानी की महत्वता को समझाया

खेतड़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजोता स्थित पंचायत समिति सभागार भवन में गुरुवार को अटल भूजल योजना के तहत एक दिवसीय ब्लॉक स्तरीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे विकास अधिकारी शिशुपाल सिंह ने प्रशिक्षण का विधिवत रूप से शुभारंभ किया।

बीडीओ शिशपाल सिंह ने आज के परिप्रेक्ष्य में जल की महता पर प्रकाश डालते हुए अटल भूजल योजना को सफल बनाने लिए सामान्य जन मानस में चेतना जगाने पर जोर दिया। उन्होंने उचित करते हुए कहा कि आज के समय में जल की महत्वता हमारे जीवन में अधिक होने से परंपरागत स्रोतों के लिए प्रत्येक व्यक्ति को अग्रसर रहना चाहिए। जल के संचय से लेकर उसके उपयोग में आने तक बूंद-बूंद के पानी की महत्वता को समझते हुए उपयोग में लेना चाहिए।

जल का स्तर कम होने व बरसात कम होने से भूमिगत जल स्तर लगातार गिरता जा रहा है। निकट भविष्य में जल की महत्वता को यदि ठोस कदम नहीं उठाया गया तो गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। भूजल जल विज्ञान एवं जल प्रबंधन संस्थान बीकानेर के उप निदेशक राजेंद्र कुमार राणा ने प्रशिक्षण कार्यक्रम की रूपरेखा एवं अटल भूजल योजना के बारे में अवगत कराया तथा प्रत्येक व्यक्ति के लिए भूजल अटल योजना का किस प्रकार से उपयोग में आए इसकी महत्वपूर्ण जानकारियां उपलब्ध कराई गई।

इस दौरान प्रेजेंटेशन के मार्फत कम पानी से किस प्रकार फसलों को उगाया जा सकता है, इस बारे में विस्तार से समझाते हुए ऐसी फसलें कम पानी लेकर अधिक मुनाफा देती है उनको बढ़ावा देने पर जोर दिया। राजेश पारीक प्रभारी भूजल वैज्ञानिक, झुंझुनू ने खेतड़ी पंचायत समिति में अटल भूजल योजना में अब तक क्या प्रगति हुई हैं एवं भविष्य की योजना के बारे में विस्तार से अवगत करवाया।

प्रशिक्षण में लाइन विभाग द्वारा प्रशिक्षण लेकर जन सहभागीदारी से कार्य करने के प्रयास करने का आश्वासन दिया है। प्रशिक्षण में जयदीप उपनिदेशक कृषि, संजय शर्मा रामकृष्ण जयदयाल डालमिया चिडावा ने भूजल संरक्षण को लेकर प्रेजेंटेशन दिया। इस मौके पर सरपंच, ग्राम विकास अधिकारी, कृषि विभाग अधिकारी सहित अन्य विभागों के अधिकारी व कर्मचारियों ने भाग लिया।

खबरें और भी हैं...