पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसानों ने काठोड़ा बिजली जीएसएस का किया घेराव:खेती के लिए नहीं मिल रही बिजली, किसानों ने जीएसएस बंद करने दी चेतावनी

जैसलमेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जैसलमेर। जीएसएस पर धरना देते किसान।

जैसलमेर के किसानों को खेती के लिए पर्याप्त बिजली नहीं मिलने से किसानों ने काठोड़ा गांव में बिजली के जीएसएस का घेराव किया। रामा, ख्याला, कपूरिया, नादा, सियों की ढाणी के 50 से भी ज्यादा किसानों ने करीब 5 घंटे बिजली जीएसएस का घेराव किया। किसानों का कहना था कि पिछले 10 दिनों से उनको बिजली ही नहीं मिल रही है। बिजली आते ही एक घंटे में ही कट जाती है। बिजली विभाग वाले शिकायत भी नहीं सुनते हैं और जब मिलते हैं तब कहते हैं फाल्ट है। इससे परेशान होकर शनिवार को किसानों ने जीएसएस का घेराव किया तथा जीएसएस को ही बंद करने की चेतावनी दी। शाम करीब 5 बजे धरने पर पहुंचे जेईएन माधव मीना ने किसानों को आश्वासन दिया कि सभी किसानों को लगातार हर रोज 5 से 6 घंटे बिजली दी जाएगी। जेईएन के आश्वासन पर किसानों ने धरना उठाया लेकिन चेतावनी दी कि अगर समय पर पर्याप्त बिजली नहीं मिली तो वो जीएसएस को ही बंद कर देंगे।

10 दिन से नहीं मिल रही खेती के लिए बिजली

किसान अली खान ने बताया कि कपूरिया समेत कई गांवों में करीब 60 से ज्यादा ट्यूबवेल हैं जिसमें बिजाइ हो चुकी है लेकिन समय पर और पर्याप्त बिजली नहीं मिलने से किसानों की फसलों को नुकसान हो रहा है। मगर बिजली विभाग उनकी सुन ही नहीं रहा है। उन्होंने बताया कि किसानों ने नाराज होकर शनिवार को काठोड़ा जीएसएस का घेराव किया। उन्होंने बताया कि किसानों को बहुत मुश्किल से बिजली दी जा रही है। किसानों ने बिजली विभाग में संविदा पर लगे कर्मचारियों पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने बताया कि कर्मचारी जानबूझकर बिजली का फाल्ट करते हैं और किसानों को परेशान करते हैं। उन्होंने बताया कि जेईएन ने शाम को आश्वासन दिया है मगर समय पर और पर्याप्त बिजली नहीं मिली तो वे कठोड़ा जीएसएस को ही बंद कर देंगे।