पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भा टिया बगेची में मातृ सम्मेलन कार्यक्रम आयोजित:मां ही बालक की प्रथम गुरु, शिक्षा के साथ संस्कार जरुरी: देरामाराम

जैसलमेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विद्या भारती से संबद्ध आदर्श शिक्षण संस्थान जैसलमेर द्वारा संचालित स्थानीय आदर्श विद्या मंदिर, भाटिया बगेची में मातृ सम्मेलन कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि आशा व्यास, विशिष्ट अतिथि श्यामा विश्नोई व कार्यक्रम की अध्यक्षता मीरा चौधरी, आदर्श शिक्षण संस्थान के जिला सचिव भंवरलाल कुमावत व मुख्य वक्ता अखिल भारतीय पर्यावरण संयोजक व एकल विद्यालय प्रमुख जोधपुर प्रांत देरामाराम द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर अतिथि परिचय जयवंती जोशी द्वारा किया गया। इसके बाद प्रधानाचार्य गीता पंवार द्वारा विद्या मंदिर गतिविधियों का वृत्त प्रतिवेदन रखा गया। कार्यक्रम में आदर्श विद्या मंदिर भाटिया बगेची के अध्यक्ष भंवरलाल बल्लाणी व व्यवस्थापक यादव पुरोहित भी उपस्थित रहें। कार्यक्रम का संचालन लताशा व्यास द्वारा किया गया। इस अवसर पर पूजा व्यास ने काव्य गीत प्रस्तुत किया। इस अवसर पर मुख्य वक्ता देरामाराम ने माताओं के महत्व पर प्रकाश डालते हुए बताया कि मां बालक की प्रथम गुरु होती है और उनके प्रति बालक की श्रद्धा बनी रहें। बालक के संस्कारों का निर्माण घर से होता है, इसलिए माता को चाहिए कि वह ध्यान रखें बालक के सामने क्या बोलना चाहिए, उनका खान पान, रहन सहन किस प्रकार का होना चाहिए। उन्होंने कहा कि बालक हमारे आचार विचार से ही जीवन तथ्य सीखता है। कार्यक्रम में माताओं के लिए बिंदी प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया। जिसमें रानू व प्रिया पहले स्थान पर रहीं। । इस सम्मेलन में 104 माताएं शामिल हुई। कार्यक्रम के अंत में चंद्रभान खत्री द्वारा इस अवसर पर उपस्थित माताओं व अतिथियों का आभार व्यक्त किया गया। कार्यक्रम मंच आदर्श विद्या मंदिर भाटिया बगेची की प्रधानाचार्य गीता पंवार तथा अध्यापक सरिता पुरोहित, जयवंती जोशी, पूजा व्यास, दीप्ति पुरोहित, अंजलि बोहरा, लताशा व्यास, अंकिता, नरेंद्र, प्रदीप व विनोद उपस्थित रहें।

खबरें और भी हैं...