पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मनोज मीणा हत्याकांड:ग्रामीणों से चर्चा करने गठवाड़ी पहुंचे पुलिस अफसर, नहीं बनी बात, कार्रवाई के लिए ग्रामीण 27 से देंगे धरना

शाहपुरा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जमवारामगढ़ के गठवाड़ी निवासी मनोज मीणा हत्याकांड के मामले में सभी आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर ग्रामीणों द्वारा 27 जनवरी से धरना दिए जाने की घोषणा के बाद मंगलवार को पुलिस अधिकारी वार्ता के लिए पहुंचे। कस्बे के ग्राम पंचायत परिसर में ग्रामीणों और पुलिस अधिकारियों के बीच करीब 2 घंटे चली वार्ता बेनतीजा रही। ग्रामीण 27 से धरना दिए जाने की घोषणा पर अड़े रहे। शाम 6 बजे बाद कोटपूतली एडिशनल एसपी नवाब अली, जमवारामगढ़ डीएसपी शिवकुमार भारद्वाज, रायसर थाना प्रभारी रामधन सांडीवाल ग्रामपंचायत परिसर पहुंचे। जहां सरपंच बाबूलाल मीणा सहित ग्रामीण पहले से मौजूद थे।

पुलिस अधिकारियों ने मामले में प्रभावी कार्यवाही के लिए आश्वस्त करते हुए ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया और आंदोलन नहीं करने अपील की। लेकिन लोगों पर पुलिस की समझाइश का कोई असर नहीं हुआ। ग्रामीणों का आरोप था कि पुलिस केवल हर बार आश्वासन देने का काम करती है। जबकि हत्या को 2 महीने से अधिक गुजर जाने के बाद भी आरोपी पुलिस की पकड़ से बाहर है। ग्रामीण 27 जनवरी से सभी अभियुक्तों की गिरफ्तारी होने तक धरना दिए जाने की अपनी घोषणा पर अड़े रहे। ग्रामीणों के नहीं मानने पर पुलिस अधिकारी वापस लौट गए।

खबरें और भी हैं...