पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

MMDR एक्ट में एक महीने से फरार 5 आरोपी गिरफ्तार:चौथ का बरवाड़ा में बजरी माफिया ने पुलिस पर फेंके पत्थर, 2 ट्रैक्टर-ट्रॉली जब्त

सवाई माधोपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मलारना डूंगर थाना पुलिस ने आरोपियों को अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार किया है। - Money Bhaskar
मलारना डूंगर थाना पुलिस ने आरोपियों को अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार किया है।

जिले की मलारना डूंगर थाना पुलिस ने बजरी चोरी सहित एमएमडीआर (खान और खनिज विकास एवं विनियमन अधिनियम) एक्ट के मुकदमे में 1 महीने से फरार 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी जीतमल गुर्जर निवासी गढी मोरडा थाना बालाघाट करौली, लक्ष्मी नारायण मीणा झाडोली थाना बामनवास, दीपेश मीणा निवासी बंधावल थाना बामनवास, सूरज मीणा निवासी झारोली थाना बामनवास और पति राम मीणा निवासी ठिकरिया थाना बामनवास को मुखबिर की सूचना पर बीती रात अलग-अलग स्थानों से गिरफ्तार किया है।

एएसआई दौलत सिंह ने बताया बजरी खनन और परिवहन पर सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद 20 दिसंबर 2021 को सभी आरोपी ट्रैक्टर-ट्रॉलियों से बनास नदी से बजरी खनन कर अवैध बजरी का परिवहन कर रहे थे। इस दौरान पुलिस ने अवैध बजरी के वाहनों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को जब्त कर आरोपियों के खिलाफ 368/21 बजरी चोरी सहित एमएमडीआर एक्ट में मामला दर्ज किया था। मुकदमा दर्ज होने के बाद से यह सभी आरोपी फरार चल रहे थे। पुलिस ने बीती रात सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की।

बजरी माफिया ने पुलिस पर फेंके पत्थर
उधर, चौथ का बरवाड़ा थाना क्षेत्र में बजरी माफिया की ओर से पुलिस पर पथराव करने का मामला सामने आया है। बुधवार शाम को चौथ का बरवाड़ा पुलिस को अवैध बजरी परिवहन की सूचना मिली थी। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची तो बजरी माफिया में हड़कंप मच गया। इस दौरान कुछ लोगों ने पुलिस की गाड़ी पर पत्थर भी फेंके, लेकिन पुलिस ने मौके से 2 बजरी से भरे ट्रैक्टर-ट्रॉली पकड़ने में सफलता हासिल की।

तहसील क्षेत्र के बगीना गांव के पास बहने वाली बनास नदी में लगातार बजरी का अवैध परिवहन किया जाता है। गांव में जाने वाले रास्ते सही नहीं होने से आसानी से प्रशासन नहीं आने के फायदा उठाकर बजरी का अवैध परिवहन किया जाता है। बुधवार शाम करीब 5 बजे चौथ का बरवाड़ा थाना प्रभारी टिनू सोगरवाल पुलिस जाब्ते के साथ पहुंची तो गांव में हड़कंप मच गया। इस दौरान पुलिस को देखकर कुछ लोगों ने पुलिस की गाड़ी पर पत्थर फेंके। गनीमत रही कि पुलिस की गाड़ी क्षतिग्रस्त नहीं हुई और किसी भी जवान को चोट नहीं लगी। इसके बाद पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए कार्रवाई की।

थाना प्रभारी टीनू सोगरवाल ने बताया कि जैसे ही पुलिस की गाड़ी मौके पर पहुंची तो कुछ लोगों ने पत्थर फेंके। पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए मौके से दो ट्रैक्टर-ट्रॉली को जब्त कर लिया है। इनके खिलाफ बजरी के अवैध परिवहन तथा अन्य मामलों में कार्रवाई की जा रही है। थाना प्रभारी ने बताया कि इस मामले को लेकर दो लोगों को भी पकड़ा गया है। फिलहाल अभी उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं किया गया है।

खबरें और भी हैं...