पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX58461.291.35 %
  • NIFTY17401.651.37 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47443-0.31 %
  • SILVER(MCX 1 KG)60733-1.76 %

पृथ्वीराजनगर पेयजल प्रोजेक्ट:जलदाय विभाग का यू-टर्न, घटिया पाई गई टंकियों को तोड़ेंगे नहीं, वापस जांच कराएंगे

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इंजीनियरों-ठेकेदारों के कारण काम में 6 माह विलम्ब हुआ। - Money Bhaskar
इंजीनियरों-ठेकेदारों के कारण काम में 6 माह विलम्ब हुआ।

जलदाय विभाग के इंजीनियरों को पृथ्वीराज नगर क्षेत्र की 2.5 लाख आबादी को पेयजल पहुंचाने की बजाय ठेकेदारों की चिंता है। यहां बन रही टंकियों में क्रेक आने, स्ट्रेन्थ मापदंड पर फेल होने के बावजूद इंजीनियरों ने यू-टर्न ले लिया है। तीन में से दो टंकियों को तोड़ने की बजाय एमएनआईटी से वापस जांच कराएंगे। पहले इन टंकियों की जांच सीईजी (कंंसल्टेंसी इंजीनियरिंग ग्रुप) ने की थी। इंजीनियरों-ठेकेदारों के कारण काम में 6 माह विलम्ब हो गया है।

इस प्रोजेक्ट पर 564 करोड़ रुपए खर्च होने हैं। टंकियां बनाने व पाइपलाइन डालने का काम जीसीकेसी व आई एचपी कंपनियों के जॉइंट वेंचर को दिया गया है। पहले काम पूरा होने का समय अक्टूबर 2022 तय था, लेकिन अब जनवरी 2023 तक दिया। काम अब तक 27% ही हुआ है। विभाग के एसीई मनीष बेनीवाल का कहना है कि क्वालिटी कंट्रोल के लिए रजिस्टर मेंटेन करवा रहे हैं, सैंपल की भी पूरी डिटेल है।

एक टंकी तोड़ी, दो का काम रोका
इंजीनियरों की टीम के निरीक्षण में रजनी विहार, निधि विहार व विजय नगर में बन रही टंकियों क्रेक दिखे। इसके बाद स्ट्रैंथ टेस्टिंग करवाई। मापदंड में स्ट्रैंथ 85 प्रतिशत से कम मिली। रजनी विहार की टंकी को तोड़ दिया। लेकिन निधि विहार व विजय नगर टंकियों की दोबारा जांच होगी।

खबरें और भी हैं...