पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61765.590.75 %
  • NIFTY18477.050.76 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47184-1.49 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62935-0.03 %
  • Business News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Two Thugs Arrested For Selling Fake Gold In Jaipur By Malpura Police, Deal To Sell The House For Half The Price By Telling A Bunch Of Gold

सोने की नकली माला बेचते दो ठग गिरफ्तार:मकान की नींव खुदाई में गढ़ी हुई सोने की मालाओं का गुच्छा बताकर आधे दामों में बेचने के लिए सौदा, पुलिस ने बोगस ग्राहक बनकर पकड़ा

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर में मालपुरा गेट थाना पुलिस ने सोने की नकली माला बेच रहे दो ठगों को गिरफ्तार किया है - Money Bhaskar
जयपुर में मालपुरा गेट थाना पुलिस ने सोने की नकली माला बेच रहे दो ठगों को गिरफ्तार किया है

जयपुर में मकान की नींव खुदाई में गढ़ी हुई सोने की मालाओं का गुच्छा बताकर आधे दामों में नकली सोना बेचते दो शातिर ठगों को मालपुरा गेट पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों के कब्जे से करीब 800 ग्राम वजनी नकली सोने की 19 मालाओं का गुच्छा बरामद किया है। दोनों ठगों को पुलिस ने बोगस ग्राहक बनकर टोंक रोड पर बंबाला पुलिया के पास से सोमवार को पकड़ा। उनसे गहनता से पूछताछ की जा रही है।

थानाप्रभारी रायसल सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी मगरा राम बागरी (42) निवासी गांव भोकड़ा, आहोर तहसील, जिला जालोर का रहने वाला है। वहीं, दूसरा आरोपी सोपाराम बागरी (33) जालोर जिले में भीनमाल तहसील के गांव रामसिह का रहने वाला है।

इस तरह पुलिस ने बोगस ग्राहक बनकर पकड़ा

सबइंस्पेक्टर अनिल कुमार ने केस दर्ज करवाया है कि 20 सितंबर को शाम 4:30 बजे गश्त करते हुए टोंक रोड पर इंडिया गेट पहुंचे। तभी कांस्टेबल राकेश कुमार के मोबाइल फोन पर एक कॉल आया कि कुछ लोग सोने की माला बेचने की फिराक में घूम रहे है। वे संदिग्ध लगते है। तब राकेश ने आरोपी मगराराम से फोन पर संपर्क किया।

तब उसने बताया कि उसके घर में नींव की खुदाई में सोने की मालाओं के दो गुच्छे मिले है। रुपयों की जरुरत होने से वह इन मालाओं को वह आधी रकम में बेचना चाहता है। तब राकेश ने बोगस ग्राहक बनकर माला खरीदने की इच्छा जताई। तब मगराराम ने बातचीत कर पुलिस कांस्टेबल राकेश को बंबाला पुलिया के पास मिलने बुलाया।

सादा वस्त्रों में टेंपो में बैठकर आरोपियों के पास पहुंचा कांस्टेबल
राकेश को सादा वर्दी में टैंपो में बैठाकर रवाना किया गया। पीछे पीछे सबइंस्पेक्टर अनिल और अन्य पुलिसकर्मी दूसरी गाड़ी से रवाना हो गए। राकेश ने बंबाला पुलिया के पास फोन कर ठग मगराराम से संपर्क किया। तब मगराराम और उसका साथी पैदल आए।

उन्होंने राकेश से संपर्क कर मालाएं दिखाते हुए पुराना सोना बताया। उसके मोती भी चैक करने को दिए। तभी राकेश ने मालाएं नकली होने का शक जाहिर किया तो वे दोनों सकपका गए। संदेह होने पर पुलिस ने दोनों को धरदबोचा। तब पूछताछ करने पर बताया कि दोनों मालाएं नकली सोने से बनी है। जिनको वह एंटिक सोना बताकर बेच रहे थे।

खबरें और भी हैं...