पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हैडमास्टर कैडर खत्म:शिक्षा विभाग के नए पदोन्नति नियमों से 3 लाख शिक्षकों के लिए पदोन्नति के अवसर खत्म हुए

जयपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिक्षा विभाग की ओर से हाल ही घोषित पदोन्नति के नए प्रावधानों से 3 लाख शिक्षक प्रभावित होंगे। - Money Bhaskar
शिक्षा विभाग की ओर से हाल ही घोषित पदोन्नति के नए प्रावधानों से 3 लाख शिक्षक प्रभावित होंगे।

शिक्षा विभाग की ओर से हाल ही घोषित पदोन्नति के नए प्रावधानों से 3 लाख शिक्षक प्रभावित होंगे। उनकी पदोन्नति के अवसरों पर फर्क पड़ेगा। विभाग ने हैडमास्टर कैडर खत्म कर दिया है। इससे तृतीय श्रेणी शिक्षक और वरिष्ठ अध्यापकों के पदोन्नति के अवसरों पर फर्क पड़ेगा। हैडमास्टर के पद पर सीधी भर्ती होती थी।

आरपीएससी की ओर से आयोजित इस परीक्षा में तृतीय श्रेणी और वरिष्ठ अध्यापकों को सीधे ही हैडमास्टर बनने का अवसर मिलता था। अब यह कैडर समाप्त होने से यह अवसर समाप्त हो गया है। यही नहीं इस पद पर पदोन्नति भी होती थी। जब पद ही समाप्त हो गया तो पदोन्नति भी नहीं हो सकेगी।

प्रिंसिपल के आधे पदों पर सीधी भर्ती की मांग उठाई
राजस्थान प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षक संघ ने नए प्रावधान से हुए नुकसान की भरपाई के लिए प्रिंसिपल के आधे पदों पर सीधी भर्ती करने की मांग उठाई है, ताकि शिक्षकों को अपनी काबिलियत दिखाने का मौका मिल सके। संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष विपिन प्रकाश शर्मा ने कहा कि इसके साथ ही व्याख्याता पद पर पदोन्नति के लिए यूजी-पीजी में समान विषय की बाध्यता भी हटाई जाए।

अगर बाध्यता नहीं हटाई गई तो इससे विज्ञान वर्ग के शिक्षकों को भारी नुकसान होगा। अब तक विभागीय पदोन्नति में यूजी तथा पीजी में विषय की समानता की बाध्यता नहीं थी। इस मांग को लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री और शिक्षामंत्री को ज्ञापन भी भेजा है।

खबरें और भी हैं...