पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कल्ला बोले: मैंने पहले भी पहना कांटों का ताज:शिक्षा मंत्री बनने के बाद रीट विवाद पर कहा: पेपर आउट नहीं, रिक्त पदों पर होगी भर्ती

जयपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बी डी कल्ला शिक्षामंत्री

राजस्थान में अब तक सबसे ज्यादा विवादों में रही रीट परीक्षा पर शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि रीट समेत दूसरी परीक्षाओं का पेपर लीक आउट नहीं हुआ। वहीं शिक्षा विभाग मिलने के बाद वे बोले कि पहले भी 9 साल कांटों का ताज पहना हुआ है। ऐसे में वह इस विभाग को अच्छी तरीके से चला सकते हैं। शिक्षा विभाग मिलने ही उन्होंने यह स्पष्ट कर दिया है कि अब जाे भर्तियां लंबित है उन्हें जल्दी ही पूरा किया जाएगा।

गौरतलब है कि रीट परीक्षा सबसे ज्यादा विवादों में रही। पेपर आउट व नकल मामले में कई लोगों की गिरफ्तारी हुई। लेकिन नए शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला ने साफ तौर पर मना कर दिया है कि परीक्षा का पेपर आउट नहीं हुआ है। ​​​​​​​ पढ़िए नवनियुक्त शिक्षा मंत्री से दैनिक भास्कर की खास बातचीत।

सवाल- 2 साल का वक्त बचा है। ऐसे में आपकी प्राथमिकता क्या रहेंगी?
जवाब-
राजस्थान में शिक्षा क्षेत्र में पिछले 3 साल में शानदार काम हुआ है। महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल हो या फिर स्कूलों के इन्फ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाना, मैं इन्हीं सभी काम को आगे बढ़ाना चाहूंगा। मेरी प्राथमिकता रहेगी कि प्रदेश में लंबित भर्ती प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा करूं। ताकि बेरोजगारों को रोजगार मिल सके। राजस्थान की शिक्षा विभाग में काफी सुधार हुआ है। लेकिन अभी इसमें गुंजाइश बाकी है। इसे पूरा करने की कोशिश करूंगा।

सवाल- रीट समेत दूसरी परीक्षाओं के पेपर आउट को लेकर विवाद जारी है। क्या फिर से परीक्षा का आयोजन होगा?
जवाब-
शिक्षा विभाग द्वारा भर्ती परीक्षाओं का आयोजन नहीं किया जाता। पिछले दिनों भी अन्य संस्थाओं को परीक्षा की जिम्मेदारी दी गई थी। जिन्होंने भर्ती परीक्षा का आयोजन करवाया। लेकिन मुझे नहीं लगता उनमें से किसी भी परीक्षा का पेपर आउट हुआ है।

सवाल- रीट के बाद अब 50 हजार शिक्षकों की भर्ती करने की मांग की जा रही है। क्या शिक्षा विभाग ऐसा करेगा?
जवाब-
शिक्षा विभाग द्वारा फिलहाल सिर्फ 31000 पदों को ही भरा जाएगा। लेकिन इसके बाद भी अगर गुंजाइश रहती है। तो बाद में अधिकारियों से बातचीत के बाद इस पर निर्णय किया जाएगा।

सवाल- शिक्षा विभाग में 60 हजार पदों पर भर्ती की जानी है ।यह प्रक्रिया कब तक शुरू होगी?
जवाब-
शिक्षा विभाग में तृतीय श्रेणी शिक्षक से लेकर अन्य जितने भी पद खाली हैं। उन सब पर जल्द से जल्द मंथन कर भर्ती प्रक्रिया को शुरू करने का काम किया जाएगा।

सवाल- शिक्षा विभाग कांटों का ताज माना जाता है। तबादलों में भ्रष्टाचार के आरोप भी लगते हैं, आप इससे कैसे बचेंगे?
जवाब-
कांटों के ताज को मैंने पहले भी 9 साल पहन रखा है। मेरे लिए यह काम मुश्किल नहीं। मैंने तब भी अपनी जिम्मेदारी निभाई थी, आगे भी निभाऊंगा।