पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX58461.291.35 %
  • NIFTY17401.651.37 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47394-0.41 %
  • SILVER(MCX 1 KG)60655-1.89 %

रेलवे में नहीं होगा ठेकों में विवाद:अब मैनपावर की बजाय काम का होगा भुगतान, टू व्हीलर को पैक करने में नहीं ली जाएगी मनमानी फीस, इसका भी टेंडर होगा

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रेलवे बोर्ड ने आए दिन ठेकों (टेंडर) में होने वाले विवादों से बचने के लिए एक नई शुरुआत की है। इसके बाद अब रेलवे विवादों से दूर रहेगा। रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम प्रकाशित नहीं करने की शर्त पर बताया कि रेलवे द्वारा पार्किंग, साफ सफाई, लोडिंग-अनलोडिंग, कोच मेंटेनेंस, कोच वॉटरिंग जैसे कई ठेके दिए जाते हैं। जिनमें रेलवे द्वारा निजी फर्म को कार्य के बदले भुगतान किया जाता है।

इसके लिए रेलवे द्वारा टेंडर जारी किया जाता है और उस काम के बदले एक निर्धारित दर तय की जाती है। इसमें जो फर्म सबसे कम राशि डालती है, उसे टेंडर जारी कर दिया जाता है, जिसमें रेलवे श्रमिकों की संख्या (मैनपॉवर) का निर्धारण करती थी। यानि किस कार्य के लिए कितने श्रमिक चाहिए। ऐसे में जिस फर्म को टेंडर नहीं मिलता था, तो वो इसे आधार बनाकर कोर्ट में चुनौती दे देते था, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। क्योंकि अब रेलवे मैनपॉवर की शर्त को हटाकर टेंडर जारी करेगी।

जैसे पहले रेलवे स्टेशन की साफ-सफाई के लिए न्यूनतम श्रमिकों की संख्या बताती थी, जबकि अब रेलवे सफाई का दायरा और आवृति बताएगी। यानि कितनी दूरी में कितनी बार सफाई करनी है, उसे टेंडर की शर्तों में शामिल करेगी। इससे कोई भी फर्म इसे कोर्ट में चुनौती नहीं दे सकेगी।

पैकिंग फीस भी तय होगी
ट्रेनों में टू व्हीलर्स के अलावा अन्य माल को पैक करने के लिए लोगों से स्टेशन पर मनमाना शुल्क वसूला जाता है। ऐसे में ये कई बार बड़े विवाद का कारण भी बन जाता है। इसे रोकने के लिए और पारदर्शिता लाने के लिए उत्तर पश्चिम रेलवे में पहली बार जयपुर डीआरएम नरेंद्र और सीनियर डीसीएम मुकेश सैनी द्वारा एक नई व्यवस्था शुरू की जा रही है। इसके तहत रेलवे अब मंडल के सभी बड़े स्टेशनों पर टू व्हीलर्स को पैक किए जाने की भी दर तय करेगी। इसके लिए जल्द ही टेंडर जारी किया जाएगा, जिसमें टू व्हीलर्स के लिए पैकिंग की दर निर्धारित की जाएगी।

खबरें और भी हैं...