पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अपनों ने दिए घाव, कहीं गैरों के चलते घुटी चीखें:पति के सामने गैंगरेप, गर्भवती से अस्पताल के बाहर दरिंदगी, 5 वर्षीय मासूम को नहीं बख्शा

जयपुर4 महीने पहलेलेखक: विक्रम सिंह सोलंकी
  • कॉपी लिंक

राजस्थान में मासूम बच्चियों और महिलाओं से दुष्कर्म की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। अलवर में बोल और सुन न पाने वाली बच्ची से दरिंदगी कोई पहला मामला नहीं है। मासूम बच्चियों से लेकर प्रेग्नेंट महिलाएं तक हैवानियत से शिकार हो रही हैं। दैनिक भास्कर ने रेप के मामलों और महिला अपराध आंकड़ों की पड़ताल की तो चौंकाने वाले फैक्ट्स सामने आए। राजस्थान में रोज 17 लड़कियां दरिंदगी का शिकार हो रही हैं। अधिकतर मामलों में दुष्कर्म के आरोपी रिश्तेदार, करीबी या फिर जान-पहचान वाले ही होते हैं।

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी-2020) के आंकड़ों बताते हैं कि रेप के मामले में राजस्थान ने यूपी को भी पीछे छोड़ दिया है। पढ़िए- ऐसे रेप केस, जिसने लोगों को झकझोर कर रख दिया...