पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महिलाएं शतक के पार, करना पड़ा COWIN में बदलाव:110 साल की हर कौर और 106 की सुरजीत कौर एप में चेंज कराकर लगवाई डोज

जयपुर/श्रीगंगानगर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सबसे उम्रदराज महिलाओं का एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें कोविन एप में बदलाव कराने की जरूरत आ गई। बता दें कि पूरे देश में सोमवार से हेल्थ व फ्रंटलाइन वर्कर्स के अलावा गंभीर बीमार 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को बूस्टर (प्रीकॉशन) डोज लगाई जाएगी। प्रदेश में ऐसे लोगों की संख्या 24.15 लाख है। इस मौके पर कोविन एप में बदलाव कर टीका लगाने वाली प्रदेश की सबसे ज्यादा उम्र की महिलाओं - 110 साल की हर कौर और 106 की सुरजीत कौर ने कहा कि वे भी हर हाल में बूस्टर डोज लेंगी।

सभी को टीका लगाना चाहिए। बता दें कि पहले कोविन एप में 101 साल की उम्र वालों का ही रजिस्ट्रेशन होता था। हर कौर और सुरजीत कौर की उम्र इससे अधिक होने के कारण वे रजिस्ट्रेशन नहीं करवा पा रही थीं। दो दिन अस्पताल के चक्कर काटने के बाद उन्होंने कोविन एप में बदलाव करवाया था।

हर कौर (110 वर्ष) और सुरजीत कौर (106 वर्ष)
हर कौर (110 वर्ष) और सुरजीत कौर (106 वर्ष)

हर कौर बोलीं-दोनों डोज लगने के बाद कोरोना तो दूर बुखार तक नहीं हुआ
कोरोना का इलाज न होने की बात सुनकर डर लगता था। 8 मार्च 2021 को ग्राम पंचायत मुख्यालय बांडा गांव की पीएचसी में पहला टीका लगवाया था। एक माह बाद अप्रैल के पहले हफ्ते में दूसरी डोज लगी। दोनों डोज लगने के बाद कोरोना तो दूर बुखार तक नहीं हुआ। दोनों टीके लगवाने के बाद तंदुरुस्त महसूस करती हूं। जिन्होंने टीका नहीं लगवाया, उनसे मेरी अपील कि है कोरोना का टीका जरूर लगवाएं।’ इसके बाद से हर उम्र के लोगों के लिए रजिस्ट्रेशन खुला था।

सुरजीत कौर ने कहा, तीसरी लहर को हरा सकते हैं
टीवी पर कोरोना का टीका लगने की खबर देख बेटे-बहू से कहा था- मुझे भी टीका लगवाना है। मैं तो पैदल ही टीका लगवाने अस्पताल पहुंच गई थी। अब पूरी तरह से स्वस्थ हूं। घर में छोटा-मोटा काम बिना किसी तकलीफ के कर लेती हूं। सभी टीका लगवाएं। इसी से तीसरी लहर को हरा सकते हैं।’

भास्कर EXPLAINER : दूसरी डोज के 9 माह बाद लगेगी बूस्टर डोज, वैक्सीन नहीं बदली जाएगी...

  • बूस्टर डोज किन्हें लगेगी?

प्रमुख सचिव वैभव गालरिया ने बताया- किसी भी व्यक्ति को बूस्टर तभी लगेगी जब उसे दूसरी डोज लगे 9 माह (39 हफ्ते) हो चुके हों।

  • क्या वैक्सीन बदली जाएगी।

जिस व्यक्ति पूर्व में जो वैक्सीन लगी थी, वही बूस्टर डोज में लगेगी।

  • क्या डॉक्टर का सर्टिफिकेट लगेगा?

कोई सर्टिफिकेट नहीं चाहिए। ऑनलाइन-ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन करवाकर टीका लगवा सकते हैं। नोडल अफसर व आरसीएचओ को प्रशिक्षण दिया है। बूस्टर डोज 5.17 लाख हेल्थ वर्कर्स, 6.48 लाख फ्रंटलाइन वर्कर्स व 12.50 लाख 60+ लोगों को लगेगी।