पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59037.18-0.72 %
  • NIFTY17617.15-0.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48458-0.16 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646560.47 %
  • Business News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • After Winning The Election Of District Chief, BJP Will Try To Comeback In Josh, Kotputli, Dudu; Congress Will Try To Upset Amer And Chaksu

जयपुर में आज कांग्रेस ने किया उलटफेर:बीजेपी में क्रॉस वोटिंग से जयपुर उप जिला प्रमुख का चुनाव जीते कांग्रेस के मोहन डागर, कल बीजेपी ने जिला प्रमुख चुनाव जीता था

जयपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर उप जिला प्रमुखका चुनाव जीतने के बाद कलेक्टर से सर्टिफिकेट लेते मोहन डागर। - Money Bhaskar
जयपुर उप जिला प्रमुखका चुनाव जीतने के बाद कलेक्टर से सर्टिफिकेट लेते मोहन डागर।
  • मौजमाबाद में उपप्रधान की सीट खाली

जयपुर में जिला प्रमुख के बाद अब उप जिला प्रमुख पर उलटफेर देखने को मिला है। कांग्रेस के मोहन डागर ने जयपुर के उप जिला प्रमुख का चुनाव जीत लिया है। मोहन डागर को 26 वोट मिले, जबकि बीजेपी उम्मीदवार राजकंवर को 25 वोट मिले। सोमवार की बगावत के बाद कांग्रेस के पास 25 जिला परिषद सदस्य रह गए थे। जयपुर जिला परिषद में कुल 51 सदस्य हैं। बहुमत के लिए 26 वोट की जरूरत थी। कांग्रेस ने बीजेपी में क्रॉस वोटिंग करवाकर चुनाव जीता है।

सोमवार को जयपुर जिला प्रमुख के चुनाव में कांग्रेस की दावेदार रमा देवी ने बगावत करके बीजेपी से चुनाव लड़ा और क्रॉस वोटिंग से जीत गईं। रमा देवी के साथ कांग्रेस जिला परिषद सदस्य जैकी टाटीवाल भी बीजेपी खेमे में चले गए। इसकी वजह से कांग्रेस के सदस्य 26 से घटकर 25 रह गए थे। मंगलवार को कांग्रेस ने बीजेपी खेमे में सेंध लगाकर जयुपर उप जिला प्रमुख का चुनाव जीत लिया।

सोमवार को प्रधान के चुनाव में 22 में से 13 पंचायत समितियों में कांग्रेस, जबकि 9 में भाजपा अपना प्रधान बनाने में सफल रही है। जयपुर जिला परिषद में उप प्रमुख और पंचायत समितियों में उप प्रधान के लिए नामांकन पत्र भरने की प्रक्रिया सुबह 10 बजे से शुरू हुई और 11 बजे तक नामांकन जा रही है। 5 बजे के बाद वोटिंग के रिजल्ट घोषित किए ।

देरी होने के चलते भाजपा के प्रत्याशी का नहीं हो सका नामांकन
भाजपा प्रत्याशी सुवालाल 11:09 पर नामांकन दाखिल करने पहुंचे थे। जब तक वो पहुंचे समय निकल चुका था। मौजमाबाद के उप प्रधान की सीट खाली रह गई। किसी भी पार्टी के प्रत्याशी ने यहां नामांकन दाखिल नहीं किया। सोमवार को यहां भाजपा की उगंती देवी का निर्विरोध चयन हुआ था।

दूदू में बहुमत के बावजूद हारी थी भाजपा

दूदू की बात करें तो यहां भाजपा के पास बहुमत था। उसके बावजूद कांग्रेस यहां से अपना प्रधान बनाने में सफल रही। ऐसे में आज भाजपा कोशिश करेगी कि वह उप प्रधान बनाकर अपनी वापसी कर सके। वहीं कोटपूतली में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी थी। यहां कांग्रेस ने निर्दलीयों और आरएलपी के सहयोग से प्रधान बनाया। दूसरी तरफ, चाकसू में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी होकर भी प्रधान नहीं बना सकी। इसके पीछे आरोप ये लगाए जा रहे है कि स्थानीय विधायक ने जान-बूझकर पार्टी को हरवाया है। ऐसे में कांग्रेस की कोशिश रहेगी कि वह यहां उप प्रधान बनाकर अपनी लाज बचाए।

आमेर में दिलचस्प मुकाबला
पंचायत समिति आमेर में 23 वार्डो में भाजपा और कांग्रेस 11-11 यानी बराबर सीटे मिली हैं। प्रधान के चुनावों में कांग्रेस ने अपना प्रधान बनाने के लिए निर्दलीय उम्मीदवार पर दांव खेल लिया। कांग्रेस को ये दांव उल्टा पड़ गया। कांग्रेस की सीट से जीतकर आए बद्रीनारायण ने भाजपा का दामन थामते हुए भाजपा से प्रधान की दावेदारी की। इस तरह कांग्रेस से बागी होकर लड़े बद्रीनारायण को 12, जबकि निर्दलीय जीतकर आए रोशनलाल बुनकर को 11 वोट मिले। ऐसी स्थिति को देखते हुए कांग्रेस मंगलवार को उप प्रधान के चुनाव में यहां दोबारा कोई नया समीकरण बनाने पर विचार कर सकती है।

भाजपा ने आरएलपी के सामने खड़ा कर दिया प्रत्याशी
पावटा पंचायत समिति में सोमवार को प्रधान के चुनाव में आरएलपी के दोनों सदस्यों ने भाजपा को सपोर्ट करके भाजपा उम्मीदवार को प्रधान बनाया है। आज उप प्रधान के चुनाव में भाजपा ने आरएलपी को सपोर्ट नहीं किया। भाजपा ने अपना प्रत्याशी उतार दिया है। अब अब आरएलपी की सदस्य सुमन देवी ने कांग्रेस कांग्रेस के सहयोग से निर्दलीय पर्चा भर दिया। पाटवा में स्थिति देखें तो यहां 23 वार्डो में से 10-10 पर कांग्रेस-भाजपा जीती है। 2 आरएलपी और एक निर्दलीय सदस्य जीतकर आए हैं।

6 में से 5 उप जिलाप्रमुख कांग्रेस के:आज जयपुर,भरतपुर में हुआ उलटफेर, केवल सिरोही में बीजेपी का उपजिला प्रमुख, जयपुर, जोधपुर, भरतपुर, दौसा, सवाईमाधोपुर में कांग्रेस की जीत

खबरें और भी हैं...