पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX60967.050.24 %
  • NIFTY18125.40.06 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479130.65 %
  • SILVER(MCX 1 KG)654460.63 %

वायरल का प्रकोप:लालसोट-मंडावरी में वायरल का प्रकोप, 17 दिन में 11664 पर पहुंचा आउटडोर, 5582 मरीजों की जांच

दौसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लालसोट| सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर दवा लेने के लिए मरीजों की लगी कतार - Money Bhaskar
लालसोट| सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर दवा लेने के लिए मरीजों की लगी कतार

मौसम परिवर्तन के साथ ही वायरल रोग का प्रकोप फैलने से अस्पतालों में आउटडोर की संख्या दोगुनी तक जा पहुंची है। स्थिति यह है कि राजकीय सामुदायिक शिक्षा केंद्र लालसोट, मंडावरी व रामगढ़ पचवारा डीडवाना में मरीजों की लंबी कतार लगी रहती है। खांसी, जुखाम, बुखार के मरीजों की भरमार बनी हुई है। एक माह पूर्व जहां आउटडोर लालसोट राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का 300 से 400 के बीच में था वहीं अब आउटडोर 700 से 800 के बीच में पहुंच गया। इंडोर में भी मरीजों की बढ़ोतरी हुई है। स्थिति यह है कि 1 से 17 सितंबर तक 11664 का आउटडोर रहा है वहीं 396 में मरीजों का इंडोर रहा है।

हालत यह है कि आउटडोर में मरीजों की संख्या बढ़ने तथा खांसी, जुकाम व बुखार के मरीजों की संख्या में हो रहे इजाफे के कारण लैब सेंटर पर जांच का दबाव बना हुआ है। पिछले 17 दिन में 5582 लोगों की जांच की गई, जिसमें सर्वाधिक 734 मरीजों की सीबीसी की जांच की गई। 658 मरीजों की हिमोग्लोबिन व 514 लोगों की यूरिन कंप्लीट तथा 575 लोगों की यूरीन प्रेगनेंसी का टेस्ट किया गया। औसतन 250 से 300 लोगों की रोजाना जांच हो रही है, दूसरी तरफ खांसी, जुखाम, बुखार के रोगों की अधिकता के कारण चिकित्सकों के कमरों के आगे मरीजों की लंबी कतारें लगी हुई है।डेंगू की जांच नहीं होने से लक्षण पद्धति पर उपचारजिन मरीजों की प्लेट रेट जांच में कम आ रही है, उनको लक्षण के आधार पर डेंगू तथा चिकनगुनिया का रोग मानते हुए वार्ड में उपचार करने का काम किया जा रहा है। सरकार द्वारा राजकीय सामुदायिक चिकित्सा केंद्र निर्धारित 30 जांच में डेंगू व चिकनगुनिया की जांच शामिल नहीं होने के कारण चिकित्सक लक्षण पद्धति के आधार पर ऐसे मरीजों का उपचार करने में लगे हुए हैं।

दूसरी तरफ से बाहर लैब सेंटर पर जांच कराने के कारण मरीजों का शोषण हो रहा है।क्या कहते हैं मरीज और डाॅक्टररामप्रसाद, किशनलाल, हेमराज, कैलाश घनश्याम ने कहा कि चिकित्सा विभाग डेंगू व चिकनगुनिया की जांच भी सरकारी अस्पताल में कराने की सुविधा मुहैया कराए ताकि लोगों को समय रहते चिकित्सा व्यवस्था का पूरा लाभ मिल सके। इधर, मंडावरी में वायरल का प्रकोप होने के कारण वार्ड में बेड फुल हैं। चिकित्सा प्रभारी डॉ.एचएन मीणा ने बताया कि इस वक्त लालसोट सीएचसी में आउटडोर 600 से 700 के बीच में है जो 1 माह पूर्व से दोगुना हो गया। गंभीर अवस्था वाले मरीजों का उपचार वार्ड में भर्ती कर किया जा रहा है। शेष मरीजों को आउटडोर में दवा लिखकर उनका उपचार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सरकार ने अभी दो चिकित्सकों की तैनाती और की है। इससे चिकित्सा सुविधाओं में और विस्तार हुआ है। लैब से जांच भी कराई जा रही है।

खबरें और भी हैं...