पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सांप के डसने से मासूम बच्ची की मौत:रोने पर कांटा लगने की सोचकर चुप कराने लगे, तबियत बिगड़ने लगी तो अस्पताल लेकर दौड़े

रावतभाटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रावतभाटा के धावदकलां गांव में सांप के डसने से 5 साल की बच्ची की मौत हो गई। घटना शुक्रवार शाम 7.30 बजे की बताई जा रही है। पांच साल की अनुष्का को उसके घर के पास ही एक चबूतरे के छेद में छिपकर बैठे सांप ने पैर में डस लिया।

अनुष्का पड़ोस की दुकान से कुरकुरे का पैकेट लेने गई थी। कुरकुरे का पैकेट खुला नहीं तो दुकान के पास ही चबूतरे पर बैठे चाचा और उसके दोस्तों को पकड़ाने के लिए हाथ बढ़ाया। इसी दौरान चबूतरे में छिप कर बैठे कोबरा ने उसके पैर में डस लिया।

रोनी लगी तो लगा कांटा चुभा होगा
दर्द की वजह से बच्ची रोने लगी। अंधेरे में कुछ नजर नहीं आया तो सबने सोचा कांटा चुभा होगा और बच्ची को गोद में उठा लिया। थोड़ी ही देर में बच्ची की तबियत बिगड़ने लगी तो परिजनों को जहरीले कीट के काटने का अंदेशा हुआ। परिजन उसे अस्पताल ले जाते इससे पहले ही उसने दम तोड़ दिया।

चबूतरा तोड़ कर सांप को मारा
घटना के बाद ग्रामीणों ने घटना स्थल पर जाकर मोबाइल की टॉर्च से देखा तो चबूतरे के छेद में छिपकर बैठा कोबरा नजर आया। ग्रामीणों ने चबूतरा तौड़ा और कोबरा सांप को बाहर निकाल कर मार दिया।

काम पर गया पिता था अनजान
मृतका के चाचा कपिल ने बताया कि बच्ची का शव घर पर ही है। बच्ची का पिता नरेंद्र मेरौठा उर्फ फोरु कोटा जिले के चेचट में नाइट शिफ्ट में काम पर गया है। बरसात में गीला ना जो जाए, इसलिए मोबाइल फोन साथ नहीं ले गया। सुबह काम से घर लौटने पर उसे बेटी की मौत का पता चलेगा। ऐसे में ऐसे में उस पर क्या बीतेगी?

पूरे गांव में चहेती थी अनुष्का
पड़ोसी रामसिंह चौधरी ने बताया कि पांच साल की अनुष्का अपनी नटखट और चुलबुली बातों की वजह से सभी की चहेती थी। घरवाले बेबी और गांव वाले उसे प्यार से बेबी डॉल कह कर बुलाते थे। बच्ची की मौत से परिवार और गांव में गम का माहौल छाया हुआ है।

खबरें और भी हैं...