पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सरकारी कार्यालय में कार लगते ही शुरू की तस्करी:डोडा चूरा से भरी कार में सवार दोनों मृतकों की हुई पहचान, सरकारी कार्यालय में ठेके पर लगाई थी गाड़ी

भीलवाड़ा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हादसे के बा क्षतिग्रस्त कार।

जिले के शाहपुरा थाना क्षेत्र के कादिसहाना सराय के पास रविवार सुबह डोडा पोस्ट से भरी कार की दुर्घटना में मारे गए दोनों तस्करों की पहचान हो चुकी है। पुलिस ने दोनों की पहचान जोधपुर निवासी अनिल पुत्र श्याम भारती 30 साल व बबलू पुत्र किशन पुरी 25 साल के रूप में की है। इस तस्करों ने जिस कार का उपयोग किया। वह कार 10 दिन पहले ही सिरोही के एक सरकारी कार्यालय में टूर एंड ट्रेवल्स कंपनी के माध्यम से ठेके पर लगाई गई थी। पुलिस का अनुमान है कि सरकारी कार्यालय में इस कार को लगाते ही इन लोगों ने इसकी आड़ में तस्करी शुरू की थी।

पुलिस ने इस कार से यह 92 किलो डोडा पोस्त बरामद किया है। पुलिस अभी भी इस कार के नंबर को लेकर छानबीन कर रही है। वही देर शाम मृतकों के परिजनों को सूचना दे दी गई। सोमवार को दोनों का पोस्टमार्टम किया जाएगा।

गौरतलब है कि शाहपुरा थाना क्षेत्र से गुजर रहे नागौर-सतुर नेशनल हाईवे पर रविवार सुबह 8 बजे कोहरे के कारण एक कार अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकराकर नाले में पलट गई। इस हादसे में कार में सवार दो जनों की मौत हो गई थी। पुलिस ने जब मौके पर आकर जांच किए तो कार में भारी मात्रा में डोडा पोस्त बरामद किया। इसके बाद दोनों शव को मोर्चरी में रखवाया गया था। वही कार पर भारत सरकार के होने के चलते पुलिस ने इस संबंध में भी जांच शुरू कर दी थी।

नए रुट पर दौड़ती है तस्करों की गाड़ियां

जानकारी है कि 2 कांस्टेबल की हत्या के बाद पुलिस ने कोटडी व रायला के मार्गों पर काफी सख्ती कर दी है। इसी के चलते अब इन तस्करों ने नया रुट ढूंढ लिया है। यह तस्कर जहाजपुर, शाहपुरा होते हुए भीम के रास्ते मारवाड़ में तस्करी करते हैं। यह वही रास्ता है जहां पर राजू फौजी कांस्टेबल की हत्या की थी।

खबरें और भी हैं...