पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

7 दिन से लापता युवक का शव हरिद्वार में मिला:गाय बछड़े की मौत होने पर गए थे हरिद्वार, हत्या का अंदेशा

बाड़मेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक मोहन का 5 दिन बाद मिला नदी में शव। - Money Bhaskar
मृतक मोहन का 5 दिन बाद मिला नदी में शव।

गाय के बछड़े की मौत होने पर दो युवक बाड़मेर से हरिद्वार गए और वहां से लापता हो गए थे। परिजनों ने 10 अगस्त को हरिद्वार में गुमशुदगी दर्ज करवाई थी। तब से परिवार के लोग हरिद्धार में तलाश कर रहे थे। इसमें एक युवक का शव हरिद्वार से 60 किलोमीटर दूर नंदी के डेम राणीपुर इलाके मे मिला है। एक युवक की अभी तक कोई सुराग नहीं लगा है। हरिद्वार कोतवाली पुलिस ने मृतक के शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया। परिजन मंगलवार को शव लेकर बाड़मेर पहुंचे।

बाड़मेर से यह दो युवक गए थे हरिद्वार, 9 अगस्त से थे लापता।
बाड़मेर से यह दो युवक गए थे हरिद्वार, 9 अगस्त से थे लापता।

मिली जानकारी के मुताबिक धोरीमन्ना आलमसरिया निवासी मोहनलाल पुत्र मघाराम और कंवराराम पुत्र चेतनराम दोनों 8 अगस्त को बाड़मेर से हरिद्वार के लिए रवाना हुए थे। गाय के बछड़े की मौत पर दोनों को हरिद्धार भेजा था। 9 को हरिद्धार पहुंच गए और तट पर नहाए भी थे। बैग और मोबाइल बस में रख दिए लेकिन दोनों युवक वहां से लापता हो गए। इसके बाद परिजन व रिश्तेदार हरिद्वार पहुंचकर दोनों युवक की तलाश कर रहे है। इस संबंध में हरिद्वार पुलिस को गुमशुदगी भी दर्ज करवाई थी। दो दिन पहले परिवार वालों को हरिद्वार तट से करीब 60 किलोमीटर दूर नदी के डेम में राणीपुर इलाके में मोहन पुत्र मघाराम का शव मिला। हरिद्वार पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है। परिजनों के मुताबिक सोमवार को हरिद्वार पोस्टमार्टम करवाकर शव सौंपा था। मंगलवार को बाड़मेर गांव पहुंचे है। परिजन हत्या का अंदेशा जता रहे है।

गाय के बछड़े की मौत होने पर गए थे हरिद्वार

परिजनों ने बताया कि अभी कुछ दिन पहले गाय के बछड़े की मौत हो गई थी। तब परिवार के लोगों ने दोनों युवकों को हरिद्वार तट पर स्नान करने के लिए भेजा था। लेकिन घर का चिराग वापस लौटा ही नहीं। 9 अगस्त को हरिद्वार में कोतवाली के आसपास घूमते हुए सीसीटीवी में दिखे है।