पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जालोर में छात्र की मौत का मामला:मेघवाल समाज ने निष्पक्ष जांच के लिए एसडीएम को सौंपा ज्ञापन, 50 लाख मुआवजा व सरकारी नौकरी की मांग

बालोतराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बालोतरा में मंगलवार को मेघवाल शिक्षा एवं विकास संस्थान द्वारा जालोर में छात्र की हत्या के मामले में निष्पक्ष जांच व मुआवजा देने को लेकर मुख्यमंत्री के नाम से उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया।

फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो मामले की सुनवाई

हुकमाराम राठौड़ ने कहा कि छात्र इंद्र कुमार के हत्यारे के मामले की फास्ट ट्रैक अदालत में सुनवाई की जानी चाहिए। जिससे उसके परिजनों को न्याय मिल सके। साथ ही सरकार से एक कमेटी गठित किए जाने की भी मांग की गई, जो सभी स्कूलों के छात्रों खास तौर पर पश्चिमी राजस्थान और पिछड़े क्षेत्र, पिछड़ा वर्ग और आदिवासी क्षेत्रों के छात्रों से ऐसी घटनाओं को लेकर फीड बैक ले। यदि किसी भी शिक्षण संस्थान में इस प्रकार की घटना होती है तो सरकार को उसकी मान्यता रद्द करनी चाहिए।

मांगे नहीं मानी तो होगा आंदोलन

प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने पीड़ित परिवार के सदस्यों को सुरक्षा व्यवस्था मुहैया करवाए जाने और उन पर दबाब नहीं बनाए जाने की मांग भी उठाई। वहीं इंद्र कुमार के परिजनों को 50 लाख रुपए की मुआवजा राशि के साथ परिवार के दो सदस्यों को नौकरी दी जाए। वहीं मेघवाल समाज के लोगों ने चेतावनी देते हुए कहा कि समय रहते मांगे नहीं मानी तो बड़े स्तर पर आंदोलन किया जाएगा।

ये रहे मौजूद
इस दौरान गोविंद मेघवाल, घेवरराम जोगसन, गजेंद्र जोगसन, महेंद्र कटारिया, कुल्लाराम मेघवाल,गोविंद गोपाल पारंगी,सालगराम परिहार आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...