पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भास्कर खास:तिजारा बीएससी नर्सिंग काॅलेज काे इसी सत्र से शुरू करने की तैयारी, कमेटी ने निरीक्षण कर रिपाेर्ट राजमेस को साैंपी

अलवर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

तिजारा बीएससी नर्सिंग कॉलेज काे इसी सत्र से शुरू करने की तैयारी है। कॉलेज के लिए पद स्वीकृत हो चुके हैं। 60 सीट के इस नर्सिंग कॉलेज के लिए वर्ष 2022-23 का बैच मिलने की उम्मीद है। इसका संचालन राजस्थान मेडिकल एजुकेशन सोसायटी करेगी। राजमेस की ओर से गठित कमेटी ने कॉलेज के संचालन से पूर्व मानकों के मुताबिक बने भवन का निरीक्षण कर रिपोर्ट सौंप दी है।

अब आईएनसी की मान्यता लेने के बाद इस कॉलेज को सीटें आवंटित हो जाएंगी। वहीं ढाढोली रामगढ़ के नर्सिंग कॉलेज के लिए भी पदों की स्वीकृति मांगी है। जिसके प्रस्ताव राजमेस को भेजे गए हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 4 करोड़ की लागत से निर्मित इस कॉलेज भवन का करीब दो वर्ष पहले लोकार्पण भी कर चुके हैं।

राजमेस की ओर से गठित चार सदस्यीय कमेटी में शामिल सीएमएचओ, नर्सिंग कॉलेज प्रिंसीपल अलवर और दो नर्सिंग ट्यूटर्स ने पिछले सप्ताह भवन का निरीक्षण कर रिपोर्ट राजमेस को सौंप दी है, जिसमें आईएनसी मानकों के मुताबिक तैयार भवन को लेकर हरी झंडी दे दी है। राजमेस की ओर से स्वीकृत पदों पर अब फैकल्टी लगाने के बाद इंडियन नर्सिंग कौंसिल (आईएनसी) की मान्यता के लिए आवेदन किया जाएगा। साथ ही सीटें भी आवंटित हो जाएंगी।

3 वर्ष पहले बनकर तैयार हुए नर्सिंग कॉलेज भवन
बहुक्षेत्रीय विकास कार्यक्रम के अंतर्गत अल्पसंख्यक क्षेत्रों के लिए पूर्ववर्ती वसुंधरा राजे सरकार ने तिजारा और ढाढोली रामगढ़ के लिए वर्ष 2014-15 के पहले बजट में नर्सिंग कॉलेज की घोषणा की थी। ये नर्सिंग कॉलेज भवन करीब 3 वर्ष पहले बनकर तैयार हुए। 4-4 करोड़ की लागत से बने भवनों का 31 अगस्त 2020 को मुख्यमंत्री ने लोकार्पण भी कर दिया, लेकिन अभी एकमात्र तिजारा कॉलेज के लिए पदों की स्वीकृति मिली है।

तिजारा कॉलेज के लिए स्वीकृत हो चुके पद : प्रिंसीपल, वाइस प्रिंसीपल व प्रोफेसर के 1-1 पद, एसोसिएट प्रोफेसर के 2 पद, असिस्टेंट प्राेफेसर के 3 पद, ट्यूटर के 8 पद, एक्जीक्यूटिव असिस्टेंट के 7 पद, सहायक लाइब्रेरियन का 1 पद, एमटीएस व सिक्यूरिटी गार्ड के 10-10 पद स्वीकृत किए गए हैं। कॉलेज के संचालन से लाभ

  • 4 करोड़ की लागत से निर्मित भवन का उपयोग हो सकेगा।
  • नर्सिंग शिक्षा के विस्तार से प्रशिक्षणार्थियों को अब दूसरे जिलों में नहीं जाना पड़ेगा।
  • भिवाड़ी के उप जिला अस्पताल व तिजारा सीएचसी में नर्सिंग सेवाओं की उपलब्धता।

​​​​​​​नर्सिंग कॉलेज तिजारा में राजमेस के तहत पदों की स्वीकृति मिल चुकी है। मूलभूत आवश्यकताओं का निरीक्षण कर कमेटी ने रिपोर्ट भेज दी है। अब आगामी निर्देशानुसार संचालन किया जाएगा।
-राजपाल सिंह यादव, प्रिंसीपल व नोडल अधिकारी नर्सिंग कॉलेज तिजारा

​​​​​​​नर्सिंग काॅलेज को इसी सत्र से शुरू करने की पूरी तैयारी है। अब फैकल्टी मिलने के बाद इसकी प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। बजट मिलते ही आईएनसी की मान्यता के लिए आवेदन किया जाएगा और सीट आवंटित होते ही संचालन शुरू हो जाएगा।
-डॉ.ओमप्रकाश मीणा, सीएमएचओ

खबरें और भी हैं...