पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बहरोड़-अलवर स्टेट हाइवे 114 बदहाल:3 जगह टोल वसूली के बावजूद जिम्मेदार कर रहे अनदेखी, लोग परेशान

बहरोड़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ,

बहरोड़-अलवर स्टेट हाईवे संख्या 114 इन दिनों बदहाल बना हुआ है। यहां RSRDC के द्वारा महंगा टोल वसूली करने के बावजूद भी सड़क का निर्माण कार्य नहीं करवाया जा रहा। वाहनों के आवागमन से यह सड़क टूटकर गांव के कच्चे रास्तों की तरह तब्दील हो चुकी है। बहरोड़ के हरियाणा बॉर्डर से लगते हुए भगवाड़ी से लेकर अलवर की दूरी करीब 72 किलोमीटर है। यहां तीन जगह टोल वसूली की जा रही है।

पिछले दिनों हाईवे पर किसान आंदोलन के चलते बहरोड़ से अलवर रोड की तरफ भारी वाहनों को डायवर्ट किया गया था। जिनके आवागमन से सड़क में जगह-जगह गहरे चौड़े गड्ढे बन गए और टूट चुकी। किसान आंदोलन खत्म हो गया। लेकिन उसके बावजूद भी राजस्थान स्टेट डेवलपमेंट अथॉरिटी के द्वारा सड़क का निर्माण नहीं करवाया जा रहा। हालांकि जगह-जगह निर्माण कार्य कछुआ चाल चल रहा है। वाहन चालकों को टोल देने के बावजूद भी सुगम रास्ता नहीं मिल रहा।

बहरोड़ में अनाज मंडी के पास स्टेट हाईवे कच्चे रास्ते में तब्दील हो चुका है। यहां बारिश के दिन में पानी भरने से गड्ढों में वाहन फंसकर दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं। पानी सूखने के बाद यहां से निकलने वाले वाहनों के पीछे गांव की कच्चे रास्ते की तरह धूल के गुबार उड़ते हैं। इससे ना केवल वाहन चालक परेशान हैं, बल्कि आसपास के दुकानदार भी दिनभर उड़ते हुए धूल के कारण परेशान बने हुए हैं।

दुकानदारों ने कहा कि अगर और कुछ दिन यूं ही चलता रहा, तो वह खुद और उनके कर्मचारी दमा की बीमारी के मरीज हो जाएंगे। हालांकि सड़क निर्माण करवाने को लेकर बहरोड़ विधायक बलजीत यादव ने भी अनेक प्रयास किए। तब काम चला, लेकिन पूरा करने काम नहीं कर पाए। RSRDC के जिम्मेदार अधिकारियों और राजनेताओं को स्टेट हाइवे की बदहाली ओर लोगों की परेशानी को देखने की आवश्यकता है। यदि समय रहते सड़क का नवीनीकरण हो जाता है, तो आमजन को सुविधा मिल सकेगी। हालांकि स्टेट हाईवे पर निर्माण कार्य धीमी गति से कछुवा चाल से चल रहा है। जिससे आमजन परेशान है।

खबरें और भी हैं...