पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फर्जी दस्तावेज से बेचा मकान:पीड़ित ने मामला दर्ज कराया तो हो गए फरार, किराए के मकान से पति-पत्नी गिरफ्तार

अजमेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पति पत्नी गिरफ्तार

अजमेर पुलिस ने कूट रचित दस्तावेज से संपति बेच कर धोखाधडी करने वाले पति-पत्नी को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपी करीब 1 साल से फरार चल रहे थे। पुलिस ने दोनों आरोपियों को न्यायालय में पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया है।

रामगंज थाना प्रभारी (प्रशिक्षु आईपीएस ) सुजीत शंकर ने बताया कि 10 मार्च 2021 को परिवादी शशि कला पत्नी अशोक कुमार बडौला ने रिपोर्ट दी कि उसने एक मकान मोहन सांखला तथा संजना सांखला पत्नी मोहन सांखला जाति साकेत नगर ब्यावर जिला अजमेर से खरीद किया था। उक्त दोनो विक्रेता द्वारा मौके पर उपस्थित होकर परिवादिया को संपत्ति का कब्जा दिया। जब परिवादिया यहां आई तो उसमें एक परिवार निवास कर रहा था। निवासरत परिवार ने मकान में लगे हुए ताले तोड़ दिए थे। बाद में पता चला कि यहां रहने वाली ममता शर्मा व महेंद्र शर्मा है।

जब उनसे बात की गई तो उन्होंने बताया कि यह मकान उन्होंने 15 लाख 25 हजार रुपए में सुरेश गहलोत व उनकी पत्नी एडवोकेट सुमित्रा पाठक से खरीदा है। इसके लिए 11 लाख रुपए भी अदा कर दिए गए हैं। जबकि उक्त परिसर परिवादिया का क्रय शुदा परिसर है। मोहन सांखला, संजना सांखला, सुरज गहलोत, ओम प्रकाश शर्मा, सुमित्रा पाठक इत्यादि लोगों ने इस संपत्ति के कूट रचित दस्तावेज तैयार करके मकान ममता शर्मा को बेच दिया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की। आरोपी गिरफ्तारी के भय से बार-बार किराये के मकान के बदल रहे थे। बाद में टीम का गठन कर गुलाब बाड़ी अलवर गेट में किराए पर रह रहे मोहनलाल सांखला व सजना सांखला गिरफ्तार किया गया।