पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

75 घंटे में बदलेगी महावीर सर्कल की सूरत:सड़क की बढे़गी चौड़ाई, यातायात होगा सुगम; स्मार्ट सिटी की नई पहल, 75 घंटे लगातार होगा काम

अजमेर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
युद्ध स्तर पर हो रहा कार्य।

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने चार सरकारी महकमों काे साथ लेकर एक नई पहल की है। आजादी के 75वें अमृत महोत्सव के तहत महावीर सर्किल की सूरत बदलने की तैयारी कर दी और इस काम को 75 घंटे में पूरा करने का टारगेट तय किया है। इसमें सुभाष उद्यान की तरफ सड़क की तीन मीटर चौड़ाई को बढ़ाते हुए लगातार कार्य कर सात मीटर किया जाएगा।

सड़क की चौड़ाई बढ़ने से तिराहे की खूबसूरती बढ़ेगी। यातायात भी सुगम होगा, राहगीरों को भी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। रविवार को सुबह से 19 जनवरी दोपहर 12 बजे तक 75 घंटे की अवधि में कार्य किया जाना प्रस्तावित है।

काम में जुटे बिजली कर्मचारी।
काम में जुटे बिजली कर्मचारी।

देश की आजादी के 75 वें वर्ष पर अमृत महोत्सव के तहत स्मार्ट सिटी मिशन द्वारा 15 जनवरी 2022 से 26 जनवरी 2022 तक प्लेस मेकिंग मैराथन कार्यक्रम का आयोजन देशभर में किया जा रहा है। इसी कड़ी में 75 घंटे के भीतर महावीर सर्किल के ट्रेफिक जंक्शन को इम्प्रूव किया जाना प्रस्तावित है। अजमेर में पहली बार अजमेर स्मार्ट सिटी द्वारा जल संसाधन विभाग, अजमेर विकास प्राधिकरण, नगर निगम और टाटा पावर के साथ तालमेल बैठाते हुए महावीर सर्किल पर जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के दो कमरे तोड़ते हुए बाउंड्री वॉल इत्यादि को पीछे करते हुए सड़क को चौड़ा किया जा रहा है एवं सुभाष उद्यान में प्रवेश द्वार तक सड़क भी बनाई जाएगी।

मौके पर निर्देश देते अधिकारी।
मौके पर निर्देश देते अधिकारी।

19 जनवरी तक 24 घंटे चलेगा कार्य
महावीर सर्किल शहर के व्यस्ततम मार्गों में से एक है। इस मार्ग पर दरगाह जाने के लिए जायरीन की भारी भीड़ रहती है। तीर्थ नगरी पुष्कर जाने वाले वाहनों की आवाजाही भी रहती है। रामप्रसाद घाट की ओर जाने वाले संपर्क मार्ग के तिराहे पर आए दिन जाम के हालात बने रहते है। इसी परेशानी को ध्यान में रखते हुए महावीर सर्किल जंक्शन को इंप्रूव किया जा रहा है।

कार्य के दौरान यहां पर हाई टेंशन इलेक्ट्रिक पोल को हटाते हुए केवल को भूमिगत किया जा रहा है, पोल पर लगे सीसीटीवी कैमरों को पोल सहित शिफ्ट किया गया है, यूनिपोल को भी यहां से हटाया गया है। यह सभी कार्य जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग, अजमेर विकास प्रधिकरण, नगर निगम और टाटा पावर के सहयोग से किए जा रहे है। सभी विभाग आपसी तालमेल करते हुए रविवार सुबह 9 बजे से 19 जनवरी दोपहर 12 तक लगातार 24 घंटे कार्य करवा रहे हैं।

जेसीबी से की जा रही तोड़फोड़।
जेसीबी से की जा रही तोड़फोड़।

15 अधिकारी एवं 150 से अधिक श्रमिक इस कार्य को 75 घंटे के रिकॉर्ड समय पर पूरा करने के लिए विभिन्न विभागों के 15 अधिकारियों सहित 150 से अधिक श्रमिक लगातार कार्य कर रहे हैं। अजमेर में पहली बार लगातार काम करते हुए प्रोजेक्ट को पूरा किया जाएगा। कार्य के दौरान पीएचईडी के दो कमरों को तोड़ते हुए सड़क को चौड़ा किया जा रहा है। बाल भैरव मंदिर को डिवाइडर में लते हुए सड़क को तीन मीटर से चौड़ा करते हुए साढ़े सात मीटर किया जाना प्रस्तावित है। सड़क चौड़ा होने के बाद यहां पर यातायात सुगम होगा और आए दिन लगने वाले जाम से छुटकारा मिलेगा, साथ ही यहां से गुजरने वालों को राहत भी मिलेगी।

जेसीबी से जोड़ी जा रही दीवार।
जेसीबी से जोड़ी जा रही दीवार।
खबरें और भी हैं...