पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अजमेर की रैंकिंग में तीन साल से सुधार:इस साल 10 अंकों के सुधार के साथ 168 वीं रैंक मिली; कचरा निस्तारण नहीं होने से कटे मार्क्स, अब सुचारू

अजमेरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नगर निगम - Money Bhaskar
नगर निगम

स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 का परिणाम आज जारी कर दिया गया। एक से दस लाख तक की आबादी वाले शहरों में शुमार अजमेर काे स्वच्छता सर्वेक्षण-2021 में 168 वी रैंक मिली है। पिछले साल 2020 में अजमेर की 178वीं तथा 2019 में 266वी रैंक थी। नगर निगम टॉप 100 में शामिल करने के लिए प्रयासरत था लेकिन पिछले साल के मुकाबले 10 रैंक का सुधार ही हो पाया।

पिछले तीन सालों से अजमेर के रैंकिंग में सुधार हो रहा है। इसमें नगर निगम प्रशासन के प्रयासों के साथ ही आमजन की सहभाागिता प्रमुख रही है। डाेर टू डाेर कचरा संग्रहण की व्यवस्था के साथ ही जनसहभागिता बढ़ाने के लिए स्कूली बच्चों के माध्यम से प्रचार प्रसार से रैंकिंग सुधार हुआ है। नगर निगम के डोर टू डोर कचरा संग्रहण सहित विभिन्न स्वच्छता उपायों से रैंक में सुधार हो पाया। अगर कचरा निस्तारण की दिशा में और प्रयास किए जाते ताे रैंक और भी बेहतर हाे सकती थी।

नगर निगम की स्वच्छता सर्वेक्षण प्रभारी सीमा चौधरी ने बताया कि अच्छे मार्क्स मिले, इसके लिए पूरे प्रयास किए गए। लेकिन कचरा निस्तारण सुचारू नहीं होने के कारण मार्क्स कम मिले। ऐसे में कुल मार्क्स 2737.81 थे और 168 वीं रैंक आई। अब स्मार्ट सिटी के तहत कचरा निस्तारण शुरू हो गया है और अगले साल की रैंकिंग में और सुधार हो सकेगा।