पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बेटी को पिता का प्यार मिले, इसलिए लड़ती रही अनुराधा:भाई बोला- बीटेक-एमबीए पास मेरी बहन बड़ी हिम्मती थी; घर-परिवार बचाने के लिए अंत तक जूझती रही

अजमेर8 महीने पहलेलेखक: भरत मूलचंदानी
  • कॉपी लिंक

अजमेर में सुसाइड करने वाली अनुराधा अपनी बेटी को पिता का प्यार दिलाना चाहती थी। वह बहुत हिम्मतवाली थी। B. Tech., MBA डिग्री होल्डर अनुराधा ने अपने स्तर पर हर संभव कोशिश करके घर-परिवार बचाए रखने की कोशिश की। इसलिए 10 दिन से वह पति से बात करने का प्रयास कर रही थी, लेकिन कोई जवाब नहीं मिल रहा था। पति, सास और दोस्तों से भी हेल्प मांगी, लेकिन कोई हल नहीं निकला। सुसाइड से पहले सास को फोन किया, लेकिन रिसीव नहीं किया। जब कहीं से कोई उम्मीद नहीं दिखी तो वह टूट गई और फंदा लगाकर जान दे दी।

विवाहिता के भाई सर्वेश्वर सोमानी ने बताया, 'मेरी बहन ब्रेव थी। फैशन शो में भी भाग लेती थी। हर चीज के लिए लड़ती थी। वह रिश्ता बचाने के लिए लड़ रही थी। अपनी परेशानी को लेकर जूझ रही थी। इसके समाधान और न्याय के लिए हर संभव प्रयास खुद के स्तर पर कर रही थी। हर जगह से मदद की उम्मीद कर रही थी, लेकिन जब मदद नहीं मिली तब हिम्मत हार गई।' दरअसल, जर्मनी में आईटी इंजीनियर पति के एक्सट्रा मैरिटल अफेयर और ससुराल वालों से परेशान अनुराधा ने दो दिन पहले सुसाइड कर लिया था। महिला के पास 6 पेज का सुसाइड नोट मिला था। उसमें पति सहित ससुराल पक्ष पर आरोप लगाए थे।आईपीएस से मांगी थी मदद
सर्वेश्वर बोला- मोबाइल देखा तो पता चला कि फेसबुक के माध्यम से अनुराधा ने आईपीएस सचिन अतुलकर से भी हेल्प मांगी थी।

मोबाइल में ऑडियो रिकॉर्डिंग
भाई ने बताया कि उसके मोबाइल में ऑडियो रिकॉर्डिंग भी मिली। इसमें पति अनिरुद्ध अनुराधा से जबरन लिखवाना चाहता था कि घरवालों ने उसे बेदखल कर दिया है। सारा सामान व जेवरात उसे सौंप दिए हैं। वह यह बात लिखकर नहीं देना चाहती थी।

अनुराधा पति अनिरुद्ध से बात करने का प्रयास कर रही थी। पति बात नहीं कर रहा था।
अनुराधा पति अनिरुद्ध से बात करने का प्रयास कर रही थी। पति बात नहीं कर रहा था।

यह है मामला
अजमेर के वैशालीनगर के शिव सागर कॉलोनी में रहने वाले मधुसूदन सोमानी की बेटी अनुराधा (31) ने शनिवार को फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली थी। घर पर माता-पिता व भाई नहीं थे, केवल दो साल की बेटी अनन्या थी। परिवार घर पहुंचा तो वह फंदे पर लटकी मिली। भाई सर्वेश्वर सोमानी ने क्रिश्चियन गंज थाने में शिकायत दी। सीओ (नॉर्थ) छवि शर्मा ने घटनास्थल का मुआयना कर सुसाइड नोट जब्त कर लिया था।

अनुराधा अपनी बेटी अनन्या के साथ। उसने सुसाइड नोट में बेटी का ख्याल रखने की बात लिखी थी।
अनुराधा अपनी बेटी अनन्या के साथ। उसने सुसाइड नोट में बेटी का ख्याल रखने की बात लिखी थी।

ससुर ने कहा- बेवजह लगाए आरोप
किशनगढ़ के मित्र निवास कॉलोनी निवासी अनुराधा के ससुर गोविन्द लाल मालपानी ने कहा कि हमारे ऊपर लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद है, यह बेवजह परेशान करना है। इससे ज्यादा अब क्या कहे।

यह खबर भी पढें...

फंदे पर लटकी महिला का सुसाइड नोट पढ़िए:लिखा- पति ने 3 साल में सिर्फ 6 महीने साथ रखा, ससुर और देवर शारीरिक-मानसिक टॉर्चर करते रहे

पापा मेरी वजह से अब आपको झुकना नहीं पड़ेगा:6 पेज का सुसाइड नोट छोड़कर महिला ने फंदा लगाया, लिखा- मेरी बेटी का ख्याल रखना

विवाहिता आत्महत्या मामला:ससुराल पक्ष पर दहेज हत्या का मामला दर्ज, भाई बोला-आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करें पुलिस

खबरें और भी हैं...