पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रेजीडेंट ने बांधी काली पट्टी:नीट PG काउंसलिंग 2021 नहीं होने पर जताया रोष; कहा-बढ़ रहा मेन्टली और फिजिकल काम का लोड

अजमेरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
काली पट्टी बांधते रेजीडेंट। - Money Bhaskar
काली पट्टी बांधते रेजीडेंट।

नीट PG काउंसलिंग 2021 नहीं होने काे लेकर जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज के रेजीडेन्ट ने रोष जताया। साथ ही काली पटटी बांधकर काम किया। उनका कहना रहा कि अस्पतालो का सम्पूर्ण कार्यभार दो बैच के रेजिडेन्टस पर है, जिसकी वजह से रेजिडेंट्स शारीरिक व मानसिक प्रताड़ना में कार्य कर रहे हैं।

काली पट्टी बांधकर विरोध प्रकट करते रेजीडेंन्टस।
काली पट्टी बांधकर विरोध प्रकट करते रेजीडेंन्टस।

रेजीडेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. अभिषेक ने बताया कि अत्यधिक कार्यभार के कारण कई रेजिडेंट्स चिकित्सक अवसाद ग्रस्त हो रहे है। सम्पूर्ण भारत में केवल 66% रेजिडेन्ट चिकित्सको पर मेडिकल कॉलेज व अस्पताल का सम्पूर्ण भार हैं। पीजी काउसलिंग सुप्रीम कोर्ट में लगातार तारीख में उलझती जा रही है।

केन्द्र सरकार व सुप्रीम कोर्ट तक अपनी आवाज पहुंचाने के लिए जार्ड ने 18 नवम्बर को राजस्थान की अन्य सभी रेजिडेन्ट यूनियन व अरा के साथ मिलकर विरोध जताया। इसी क्रम में आज काली पट्टी बांधकर बिना कार्य बाधित किए ड्यूटी करने का निर्णय किया। सभी रेजिडेन्ट चिकित्सक व पीजी एस्पिरेन्टस के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ यह विरोध था ताकि कोर्ट की अगली सुनवाई में अन्तिम निर्णय आ सके और जल्द से जल्द काउंसलिंग की प्रक्रिया शुरू हो सके।

खबरें और भी हैं...