पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अजमेर डिस्कॉम बकाया पर काटेगा कनेक्शन:करीब 1400 करोड़ रुपए बकाया, हर अफसर का टारगेट तय;  26 नवम्बर से वसूली का विशेष अभियान

अजमेर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अजमेर डिस्कॉम। - Money Bhaskar
अजमेर डिस्कॉम।

अजमेर डिस्कॉम की ओर से बकाया बिल भुगतान के लिए शुक्रवार से सख्ती शुरू की जाएगी। बिल जमा नहीं कराने वालों के कनेक्शन काटे जाएंगे। इसके लिए प्रत्येक स्तर के अधिकारी को प्रतिदिन कनेक्शन काटने या राजस्व वसूली लाने का लक्ष्य सौंपा गया है। डिस्कॉम के 12 डिविजन में उपभोक्ताओं पर 1399 करोड़ रुपए का भुगतान बकाया है। निगम द्वारा 26 से 30 नवम्बर तक राजस्व वसूली का विशेष अभियान चलाया जाएगा।

डिस्कॉम के प्रबंध निदेशक.वी.एस. भाटी ने बताया कि डिस्कॉम की सभी श्रेणियों के उपभोक्ताओं पर चल रही बकाया राशि 1399 करोड़ रुपयों की वसूली के लिए अधिकारियों के लक्ष्य तय किए गए हैं। निगम का विशेष अभियान दिनांक 26 से 30 नवम्बर तक चलाया जाएगा। इस अभियान के तहत डिस्कॉम के सभी मुख्य अभियंताओं से लेकर कनिष्ठ अभियंता तक एवं मुख्य लेखाधिकारी, वरिष्ठ लेखाधिकारियों एवं वृत्त लेखाधिकारियों को राजस्व वसूली करने के लिए प्रतिदिन के लक्ष्य निर्धारित किए गए है।

अधिकारियों को निर्देश देते MD वी.एस.भाटी।
अधिकारियों को निर्देश देते MD वी.एस.भाटी।

MD ने यह दिए निर्देश

  • कनिष्ठ अभियंता, सहायक अभियंता एवं अधिशासी अभियंताओं को प्रतिदिन 5000 से अधिक बकाया वाले उपभोक्ताओं के कम से कम 20 कनेक्शन काटने होंगे या उनसे बकाया वसूली करनी होगी।
  • अधीक्षण तथा मुख्य अभियंताओं को भी प्रतिदिन सबसे अधिक बकाया वाले 10 उपभोक्ताओं के बिजली कनेक्शन काटने होंगे।
  • कमर्शियल एवं मीटर विंग के अधिकारियों को औद्योगिक उपभोक्ताओं से बकाया राजस्व वसूली करनी होंगी।
  • सचिव प्रशासन भी अपने समकक्ष अधिकारियों से समन्वय कर सरकारी विभागों से भी राजस्व की वसूली करने का कार्य करेंगे।
  • तकनीकी अधिकारियों एवं कर्मचारियों के अतिरिक्त सभी वरिष्ठ लेखाधिकारियों एवं लेखाधिकारी भी तकनीकी कर्मचारियों को अपने साथ ले जाकर बकाया वाले उपभोक्ताओं से राजस्व की वसूली करेंगे या उनके कनेक्शन काटेंगे।

रोजाना भेजें रिपोर्ट, होगी कार्रवाई

बकाया राशि वसूली के अभियान में किसी तरह की लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाएगी। अभियान के दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रतिदिन की दैनिक प्रगति रिपोर्ट एमडी सेल तथा मुख्य लेखाधिकारी को भेजी जाए।

यहां है इतना बकाया
यहां है इतना बकाया