पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ग्रामीणों के झलके आंसू:केकड़ी में विधवा बेटी ने दिया पिता को कंधा, संवेदनशील क्षेत्र में तैनात रहे थे सब इंस्पेक्टर मोहनलाल

केकड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

केकड़ी के रहने वाले सीआरपीएफ के सब इंस्पेक्टर मोहनलाल पांचाल का गुरुवार सुबह अहमदाबाद के एक अस्पताल में निधन हो गया। वे पिछले 6 महिने से कैंसर की बीमारी से पीड़ित थे। दोपहर को उनका पार्थिव शरीर केकड़ी पहुंचा। उनके अंतिम दर्शन के लिए लोग उमड़ पड़े।

बेटा और बेटी ने दिया कंधा
सीआरएपीएफ के सब इंस्पेक्टर मोहन लाल पांचाल को सैनिक सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। मृतक सब इंस्पेक्टर की अंतिम यात्रा जयपुर रोड़ पर स्थित उनके निवास स्थान से शुरु हुई। अंतिम यात्रा में मृतक के बेटे और बेटी ने कंधा दिया। देवगांव गेट स्थित शमशान स्थल पर सीआरपीएफ के जवानों ने पार्थिव देह के समक्ष गॉर्ड ऑफ ऑनर दिया और आसमान में फायर कर सलामी दी। मृतक सब इंस्पेक्टर को मोहनलाल पांचाल के बेटे और बेटी ने मुखाग्नि दी। इस दौरान मौजूद ग्रामीणों की आंखे झलक आईं।

दिल्ली की 122वीं बटालियन में तैनाती
परिजनों ने बताया कि मोहनलाल पांचाल वर्ष 1989 में सीआरपीएफ में सिपाही पद पर भर्ती हुए थे। उसके बाद वे सीआरपीएफ में रहते हुए हवलदार से सब इंस्पेक्टर की पोस्ट पर पदोन्न हुए। दो साल पहले ही वे हवलदार से सब इंस्पेक्टर बने थे। वर्तमान में दिल्ली की 122वीं बटालियन में तैनात थे। मृतक मोहनलाल की पांच साल के करीब और नौकरी थी वर्ष 2026 में सेवानिवृत होने थे। मृतक सब इंस्पेक्टर मोहनलाल मूलत मालेड़ा टोंक जिले के निवासी थे।

बेटा होमगार्ड में तैनात
मृतक सब इंस्पेक्टर मोहनलाल के एक बेटा व बेटी है। बेटा केकड़ी में होमगार्ड का जवान है। वहीं बेटी विधवा है जो कि अपने पिता के पास ही रहती है। मोहनलाल की मौत के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

उग्रवादी और आतंकवादी क्षेत्र में रहे तैनात
मृतक सब इंस्पेक्टर मोहनलाल उग्रवाद से प्रभावित इलाके असम,उडीसा,पश्चिम बंगाल,झारखंड़ क्षेत्र और आतंकवाद से ग्रसित इलाके श्रीनगर,जम्मू कश्मीर में तैनात रहे।

खबरें और भी हैं...