पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पानी टंकी पर चढ़ा:8.62 लाख रुपए ठगी के मामले में इंसाफ न मिलने पर पानी टंकी पर चढ़ा बुजुर्ग

मोगाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुलिस ने दो दिन का समय मांगा, टंकी से उतरा बलजिंदर सिंह

तीन साल से इंसाफ के लिए दर-दर भटक रहा बुजुर्ग किसान वीरवार को पानी की टंकी पर चढ़ गया। पुलिस वालों ने किसान से 2 दिन का समय मांगते हुए आश्वासन दिया कि या तो उसके रुपए वापस दिलवाए जाएंगे नहीं तो ठगी मारने वालों के खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा। साढ़े 4 घंटे बाद बुजुर्ग पानी की टंकी से उतर आया। गांव मैहरो निवासी बलजिंदर सिंह (62) ने बताया कि उसने 7 साल पहले गांव के जगतार सिंह व साहब सिंह के साथ अपनी 8 कनाल जमीन का सौदा किया था और इकरारनामा के तौर पर 2 लाख रुपए उसे देकर जमीन का इकरारनामा लिखाया था। दोनों ने 15 कनाल जमीन ज्यादा इकरारनामा लिखवा ली।

रजिस्ट्री नहीं करवाई तो 7 साल पहले उसके खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज करवा दिया। लेकिन अदालत ने उसे बरी कर दिया। रजिस्ट्री नहीं करवाने के चलते अदालत में याचिका लगाने के चलते अदालत ने एकतरफा फैसला सुनाते हुए 8 लाख 62 हजार रुपए सरकारी खजाने में जमा करवाने के लिए कहा। उक्त लोगों ने पैसे सरकारी खजाने में जमा करवाने के बाद जगतार सिंह व साहब सिंह उसके घर आए तथा उसका एक्सिस बैंक में खाता खुलवाने के नाम पर बैंक मुलाजिम को साथ लाएं तथा दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करवा लिए। साथ ही उससे तो खाली चेक पर भी हस्ताक्षर करवा लिए। जैसे ही सरकारी खजाने का पैसा उसके खाते में ट्रांसफर हुआ तो जगतार सिंह के बेटे अमरिंदर सिंह ने 16 मार्च 2019 को खाली चेक पर 8 लाख 50 हजार रुपए व 12 हजार रुपए दो चैक लगाकर रुपए बैंक से निकलवा लिए।

ठगी के मामले में पुलिस को कई बार शिकायत देने के बावजूद भी उसकी सुनवाई नहीं होने के चलते दुखी होकर वह वीरवार की सुबह 7:30 बजे गांव के रामू वाला रोड पर स्थित पानी वाली टंकी पर चढ़ गया। पुलिस ने दोपहर 12 बजे बलजिंदर सिंह को पानी वाली टंकी से नीचे उतारा गया। डीएसपी धर्मकोट रविंदर सिंह ने बताया कि पुलिस जगतार सिंह के बेटे को पूछताछ के लिए थाने लाई है।

खबरें और भी हैं...