पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिला टाकस फोरम इमुनाइजेशन की मीटिंग:मीजल रुबेला को दिसंबर 2023 तक खत्म करने का रखा लक्ष्य: उपायुक्त

रोपड़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अधिकारियों को संबोधित करते हुए डीसी प्रीति यादव। - Money Bhaskar
अधिकारियों को संबोधित करते हुए डीसी प्रीति यादव।

जिला टाकस फोरम इमुनाइजेशन की मीटिंग जिला प्रबंधकी काॅम्प्लेक्स के कमेटी रूप में डिप्टी कमिशनर डॉक्टर प्रीति यादव की अध्यक्षता में हुई। विश्व सेहत संगठन से आए डॉ. विक्रम ने बताया कि जैसे पोलियो को देश से खत्म किया गया है ठीक उसी तरह ही अब साल 2023 तक मीजल रूबेला क भी देश में खत्म करने का लक्ष्य तैयार किया गया।

इसके लिए जरूरी है कि मीजल रुबेला की दोनों खुराके ज्यादा बच्चों को दो साल की उम्र तक लगाई जाए। मौजूदा आंकड़ों की बात की जाए तो जिला रोपड़ में पहली खुराक की प्राप्ति 105 फीसदी है और दूसरी खुराक 89 फीसदी बच्चों को दी जा चुकी है।

डिप्टी कमिशनर द्वारा इस संबंधी हिदायत जारी करते कहा कि प्राइवेट सेहत संस्था के नुमाइंदों के साथ मीटिंग की जाए और हिदायत की जाए कि उनके द्वारा मीजल रुबेला केस रिपोर्ट किए जाने और किसी किस्म की अनदेखी न प्रयोग की जाए। इसके साथ ही माइग्रेटरी जनसंख्या में जागरूकता और टीकाकरण हित्त स्पेशल कैंप लगाए जाए।

फील्ड स्टाफ द्वारा ज्यादा से ज्यादा लोगों को जागरूक किया जाए और पहली और दूसरी खुराक के 16 फीसदी फर्क को जल्दी पूरा किया जाए। संबंधित विभाग जैसे कि शिक्षा विभाग, आईसीडीएस विभाग के साथ तालमेल किया जाए।

इस मौके पर सहायक सिविल सर्जन डॉ. अंजू, जिला टीकाकरण अफसर डॉ. कुलदीप सिंह, जिला परिवार भलाई अफसर डॉ. गायतरी देवी, एसएमओ डॉ. दलजीत कौर, डॉ. विधान चंद्र, डॉ. सुमीत शर्मा और विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...