पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मांग पूरी ना होने पर विरोध:भूमि अधिग्रहण संघर्ष समिति ने सरकार पर वादा खिलाफी का आराेप लगा नारेबाजी की

पटियालाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सरकार की ओर से किया वादा पूरा न हाेने पर भूमि अधिग्रहण संघर्ष समिति ने वादा खिलाफ के खिलाफ नारेबाजी कर राेष व्यक्त किया। समिति के नेता धर्मवीर हरीगढ़ के जोनल वाइस प्रेसिडेंट गुरविंदर सिंह बौरा कलां ने बताया कि पंजाब के मुख्यमंत्री आवास को हाल ही में मजदूरों ने घेर लिया था।

इसमें मुख्यमंत्री के साथ बैठक होनी थी। बैठक में संगठन के नेताओं और सरकार के बीच निर्णय लिया गया कि पंचायत की एक तिहाई भूमि श्रमिकों को कम दर पर और स्थायी रूप से दी जाएगी। जरूरतमंद परिवारों को पांच-पांच मरला प्लांट व मकान के लिए अनुदान दिया जाएगा। लाल लकिल के अंतर्गत आने वाले मकान का मालिकाना हक दिया जाएगा। मनरेगा के काम को सही तरीके से अंजाम दिया जाएगा। सहकारी समितियों में श्रमिकों को हिस्सा मिलेगा। पंचायत की एक तिहाई जमीन भूमि मजदूरों को उचित तरीके से दी जाएगी।

लेकिन सरकार के कहने पर भी प्रशासन मजदूरों को उनकी मांगों को लेकर शर्मिंदा कर रहा है। एक तरफ सरकार बदलाव के नारे लगा रही है कि हम बदलाव करेंगे तो दूसरी तरफ प्रशासन मजदूरों को परेशान कर रहा है। जिस गांव में डमी बोली लगाई जा रही है उसे खारिज नहीं किया जा रहा है। इसके उलट कई गांवों में मजदूर जमीन लेकर खेती करना चाहते हैं।

प्रशासन उन गांवों में बोलियां रद्द कर गांवों में माहौल बिगड़ने का इंतजार कर रहा है। नेताओं ने ऐलान किया कि मजदूरों का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पटियाला कार्यालय के सामने सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता जुटेंगे और कार्यालय का घेराव करेंगे। उपरोक्त के अलावा रणधीर सिंह, बलवीर सिंह, हरमिंदर सिंह आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...