पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जरूरी खबर:मुआवजा नहीं चाहिए तो फॉर्म भरकर देना होगा

पटियालाएक महीने पहलेलेखक: शशांक सिंह
  • कॉपी लिंक
मुआवजा - Money Bhaskar
मुआवजा
  • कोविड मृतक आश्रितों को सरकार दे रही 50 हजार मुआवजा
  • सेहत विभाग घर-घर जाकर मुआवजे के आवेदन के लिए करेगा जागरूक

जिले में 200 से अधिक लोग नहीं आए कोविड का मुआवजा लेने

जिले में कोविड से 1458 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। जिला प्रशासन की तरफ से इन सभी मृतकों के परिजनों को 50-50 हजार का मुआवजा दिया जा रहा है। इसमें करीबन 220 ऐसे मृतक आश्रित है, जो मुआवजा लेने आए ही नहीं है। इसको लेकर जिला प्रशासन ने मुआवजा राशि को लेकर एक और मौका दिया है। सेहत विभाग से कहा है कि जिन मृतकों के परिवारों ने मुआवजे के लिए आवेदन नहीं किया है। उनकी जानकारी हासिल करके उनसे मुआवजा लेने के लिए फॉर्म भरवाए और एसडीएम ऑफिस में जमा करवाए। इस संबंधी सिविल सर्जन ने सभी एसएमओ को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि जो परिवार मुआवजा नहीं लेना चाहता उनसे एक फॉर्म भरवाया जाए कि वह मुआवजा नहीं लेना चाहते है।

जिला एपिडिमोलॉजिस्ट डॉ. सुमित ने बताया कि जिन कोविड मृतक आश्रितों ने मुआवजा के लिए आवेदन नहीं किया है, उनके पास एक मौका है कि वह आवेदन करे।

कोविड मृतक ग्रांट में 290 ऐसे जिनकी मौत कोविड में हुई थी, उन्हें भी मुआवजा मिला
जिले में कोविड के 1458 मौतों की पुष्टि हुई है। जबकि 290 केस ऐसे थे जिनकी मौत पोस्ट कोविड में हुई थी। ऐसे मामलों को लेकर जिला प्रशासन ने एक कमेटी बनाई थी। इसमें सेहत विभाग, राजिंदरा अस्पताल और जिला प्रशासन के अधिकारी शामिल होते थे। जिले में 290 ऐसे मृतकों को मुआवजा मिला है। कमेटी के पास 47 मामले अभी पेडिंग है, जल्द ही कमेटी वेरिफाई करेगी।

अब तक 1507 को मिल चुका मुआवजा
जिले में कोविड से 1458 लोगों की कोविड से मौतें आइडेंटी फाई हुई है। इसमें 1217 को मुआवजा मिल चुका है। इसके अलावा 290 पोस्ट कोविड को सुप्रीमकोर्ट की गाइडलाइन के मुताबिक मुआवजा दिया गया है। इस तरह 1507 और 290 समेत कुल 1507 लोगों को मुआवजा मिल चुका है। जबकि 241 को मुआवजा नहीं मिला है। इसमें करीबन 45 के करीब फाइल कमेटी के पास है। जिले में 86 फीसदी से अधिक को मुआवजा मिल चुका है।

खबरें और भी हैं...