पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पंजाब खेत मजदूर यूनियन ने की बैठक:धान की सीधी बिजाई व मनरेगा का कार्य न चलाए जाने का मामला

मुक्तसरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब खेत मजदूर यूनियन की इकाई प्रधान बलजीत सिंह की अध्यक्षता में चिबड़ावाली में मीटिंग हुई। मीटिंग को संबोधित करते हुए ब्लॉक प्रधान काका सिंह खुंडे हलाल ने कहा कि 17 मई को पंजाब खेत मजदूर यूनियन गांवों में मनरेगा का कार्य चलाने, नरमे की चुगाई का मुआवजा लेने और आटा दाल स्कीम वाले राशन का वितरण करवाने आदि मांगों के लिए धरना दिया था, डीसी ने मजदूर यूनियन के नेताओं को विश्वास दिलाया था कि दो के बाद सभी गांवों में मनरेगा का कार्य शुरू कर दिया जाएगा, लेकिन अभी तक चिबड़वाली, गंधड़, दबड़ा, भुट्टीवाला, कोटली अबलू, खुन्न खुर्द, छत्तेआना, बुट्टर बखूआ सहित कई गांवों में मनरेगा का कार्य भी नहीं चलाया गया।

यूनियन नेताओं ने कहा कि पंजाब सरकार की ओर से जमीनी पानी के बचाव के तहत धान की सीधी बिजाई के आदेशों से मजदूरों के रोजगार उजाड़े की भरपाई के लिए मनरेगा का कार्य देने की जगह मजदूरों को भूखे मारने जैसे हालातों में धकेला जा रहा है। मजदूर नेताओं ने कहा कि अगर मनरेगा का कार्य जल्द न चलाया तो संगठन की ओर से अनिश्चितकाल समय के लिए संघर्ष शुरू किया जाएगा। इस मौके पर बलजीत सिंह, सुरजीत सिंह, भोला सिंह, दौलत सिंह, राज कौर, सुखप्रीत कौर, बलजीत कौर, लवदीप कौर, राजवीर कौर मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...