पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दलजीत सिंह बोले:क्वार्टरों की खस्ताहाल खिड़कियों-दरवाजों की वजह से हो रहीं चोरियां

लुधियानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मंडल अधिकारी के साथ मीटिंग करते हुए यूआरएमयू के सदस्य। - Money Bhaskar
मंडल अधिकारी के साथ मीटिंग करते हुए यूआरएमयू के सदस्य।

रेलवे कॉलोनियों की खस्ता हालत से डिवीजन अफसरों को अवगत करवाने के लिए रेलवे यूनियन यूआरएमयू के सदस्यों ने सहायक मंडल अभियंता से मीटिंग की। इस दौरान यूनियन सदस्यों ने रेलवे कॉलोनियों की खस्ता हालत को लेकर अवगत करवाया।

यूनियन सदस्यों ने कॉलोनियों की टूटी सड़कों, जाम पड़े सीवरेज, क्वार्टरों की जर्जर हालत, टूटी खिड़कियों और दरवाजों, सड़कों पर स्ट्रीट लाइट का किसी तरह का प्रबंध ना होने जैसी समस्याओं को लेकर चर्चा की। यूनियन सदस्यों का मानना है कि सहायक मंडल अभियंता ने भी जल्द काम शुरू करने का आश्वासन दिया है।

यूनियन के सहायक महामंत्री दलजीत सिंह ने बताया कि रेलवे कॉलोनियों के क्वार्टरों में रहने वाले मुलाजिमों की परेशानियों को दूर करने के लिए हमेशा से यूनियन मुद्दा उठाती रही है। उन्होंने बताया कि रेलवे कॉलोनियों में लगभग सभी क्वार्टरों की हालत खस्ता है। सीवरेज जाम हैं। कॉलोनियों की सड़कें टूटी पड़ी हैं। दलजीत सिंह ने बताया कि क्वार्टरों की खस्ताहाल खिड़कियां और दरवाजे की वजह से आए दिन चोरी की वारदात भी हो रही हैं।

उन्होंने बताया कि कुछ क्वार्टरों के हालात ऐसे हैं कि बारिश के दिनों में पानी टपकता है तो कई के दरवाजे टूटे हैं। दलजीत सिंह ने बताया कि इस बारे में सहायक मंडल अभियंता कपिल वत्स से जल्द सुधार की मांग की गई है। इस मौके पर केसी शर्मा, राजकिशोर, विक्रम शर्मा, एसएस सोढ़ी, फिरोज आलम, सुखचैन, प्रतीक शर्मा और अश्वनी भारद्वाज मौजूद रहे।

रेलवे क्वार्टरों से चोरों ने एक्टिवा चुराई
लुधियाना| रेलवे क्वार्टरों में खड़े एक्टिवा को किसी ने चुरा लिया। मामले का पता चलने पर रेलवे मुलाजिम ने मामले की शिकायत थाना डिवीजन 8 पुलिस को दी। पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया। रेलवे मुलाजिम सुरेश कुमार ने बताया कि वो रेलवे कॉलोनी 10 में रहता है।

उसने बताया कि बीते हफ्ते उसने गांव जाना था। इसके चलते वह एक्टिवा को क्वार्टर में खड़ा कर चला गया और बाहर से ताला लगा दिया। उसने बताया कि वह 13 मई को वापस आया तो देखा कि क्वार्टर का ताला टूटा पड़ा था। उसने अंदर जाकर देखा तो वहां से एक्टिवा चोरी हो चुका था। अंदर पड़े पैसे भी गायब थे।

खबरें और भी हैं...