पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %
  • Business News
  • Local
  • Punjab
  • Ludhiana
  • Sukhjinder Randhawa Said That I Agreed Only By Being A Congressman, The Captain Hurt Only Then The Value Of Conscience Was On The Side

सुखजिंदर रंधावा बोले- मैं आम कांग्रेसी वर्कर पर ही राजी:CM या डिप्टी CM नहीं बनना चाहता; अमरिंदर ने HURT किया तो जमीर की आवाज सुन बनाई दूरी, कैप्टन आज भी सम्माननीय

लुधियाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुखजिंदर सिंह रंधावा - Money Bhaskar
सुखजिंदर सिंह रंधावा

पंजाब के मुख्यमंत्री की दौड़ में शामिल सुखजिंदर रंधावा ने कहा है कि कैप्टन ने उन्हें HURT किया इसके बाद उन्होंने अपने जमीर की आवाज सुनकर अमरिंदर सिंह से दूरियां बना लीं। उन्होंने कहा कि वह CM या डिप्टी CM नहीं बनना चाहते बल्कि एक आम कांग्रेसी कार्यकर्ता के रूप में ही ठीक हैं।

चंडीगढ़ में अपने आवास पर मीडिया से बात करते हुए रंधावा ने कहा कि कांग्रेस ने उन्हें बहुत कुछ दिया है। कैबिनेट मंत्री का पद मेरे लिए काफी है। वह आम कांग्रेसी रहकर ही राजी हैं, उन्हें मुख्यमंत्री या फिर उप मुख्यमंत्री बनने की कोई इच्छा नहीं है। पंजाब के अगले मुख्यमंत्री के बारे में पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि इसका फैसला कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी करेंगी। उनके फैसले पर ही वह सहमत हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से दूरियां बनाने पर रंधावा ने कहा कि जब तक वह कैप्टन के साथ रहे तो उनके बनकर रहे हैं। पहले उन्होंने HURT किया तो अपने जमीर की आवाज सुनकर कैप्टन से अलग गए। कैप्टन मेरे लिए हमेशा सम्माननीय हैं, वह मेरे पिता के साथ काम करते रहे हैं और वह उनकी इज्जत करते हैं।

दो घंटे में हो जाएगा नए मुख्यमंत्री का ऐलान
सुखजिंदर सिंह रंधावा ने साफ किया है कि आज शाम नहीं बल्कि दो या तीन घंटे में नए मुख्यमंत्री का ऐलान हो जाएग। हो रही देरी के बारे में रंधावा ने कहा कि अगर एक सरपंच चुनना हो तो उसमें भी समय लगता है और यह तो प्रदेश के मुख्यमंत्री का चुनाव करना है। सभी से इनपुट लिए जा रहे हैं और इस पर कभी भी फैसला आ सकता है।

रंधावा भी मुख्यमंत्री की दौड़ में
सुनील जाखड़ और नवजोत सिंह सिद्धू के साथ सुखजिंदर सिंह रंधावा खुद भी मुख्यमंत्री पद की दौड़ में हैं। अब तक के समीकरण के अनुसार अगर सुखजिंदर मुख्यमंत्री नहीं बनते हैं तो वह डिप्टी CM बनाए जा सकते हैं। उनके काफी नपे तुले शब्द और बॉडी लैंग्वेज इस ओर इशारा कर रहे थे।

कैबिनेट बैठक में नाराजगी पर बढ़ी थीं कैप्टन से दूरियां
27 अप्रैल 2021 को कैबिनेट बैठक में SIT रिपोर्ट खारिज होने पर नाराजगी जताने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह से सुखजिंदर रंधावा की दूरियां बनीं। रंधावा ने हाईकोर्ट के बेअदबी मामलों में कुंवर विजय प्रताप की अगुवाई वाली SIT की रिपोर्ट को खारिज कर दिया था। कैबिनेट बैठक में कैप्टन के साथ तल्खी इतनी बढ़ गई थी कि सुखजिंदर रंधावा ने अपना इस्तीफा तक दे दिया था और कैप्टन ने उसे फाड़ दिया था।

खबरें और भी हैं...