पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61350.260.63 %
  • NIFTY18268.40.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479750.13 %
  • SILVER(MCX 1 KG)65231-0.33 %

जालंधर में स्वीट शॉप मालिक से 5.50 लाख ठगे:एक साल के वीजा पर भेजना था ऑस्ट्रेलिया; लॉकडाउन लगा तो आरोपियों ने पैसे लौटाने के नाम पर थमा दिए जाली चेक

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
थाना फिल्लौर पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। - प्रतीकात्मक फोटो - Money Bhaskar
थाना फिल्लौर पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। - प्रतीकात्मक फोटो

जिले में सैनी स्वीट शॉप के मालिक से सगे भाइयों ने एक साथी के साथ मिलकर साढ़े 5 लाख रुपए ठग लिए। आरोपियों ने उसे एक साल के वीजा पर ऑस्ट्रेलिया भेजना था। जब तक उसका वीजा लगा, कोरोना का लॉकडाउन हो गया। इस वजह से वो नहीं जा सका। इसके बाद आरोपियों ने रुपए नहीं लौटाए। उसने पुलिस को शिकायत की तो वहां समझौते के वक्त एक भाई के चेक पर दूसरे भाई ने साइन कर पकड़ा दिए, जो बैंक से कैश नहीं हुए। पुलिस ने आरोपी भाइयों व उनके साथ के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

स्वीट शॉप पर बुलाकर की बात
पुलिस की जांच में पता चला कि लसाड़ा का मग्घर सिंह विदेश जाने का इच्छुक था। नवंबर 2019 में उसे पता चला कि गांव कडियाना का डोगर लाल और गोराया के सुक्खी ट्रेड टेस्ट सेंटर के मालिक सुखविंदर सिंह के साथ मिलकर ट्रैवल एजेंट का काम करता है। उसने डोगर से संपर्क किया और लसाड़ा स्थित अपनी सैनी स्वीट शॉप में बुला लिया।

14 लाख में हुआ सौदा, आधे रुपए पहले व आधे ऑस्ट्रेलिया पहुंचने पर देने थे
वहां पर शिकायतकर्ता यानी मग्घर सिंह के भाई बलविंदर सिंह व गांव के धरमिंदर सिंह के साथ उनकी आरोपियों से 14 लाख में एक साल के वीजा पर ऑस्ट्रेलिया जाने की बात हो गई। आरोपियों ने कहा कि 7 लाख रुपए वीजा लगने व बाकी विदेश पहुंचने के बाद देने होंगे। इसके बाद उन्होंने एक वीजा दिखाया और फिर डोगरा ने अपने खाते में उनसे 7 लाख रुपए ट्रांसफर करा लिए। इसके बाद मग्घर के भाई जगजीत के कहने पर डोगर ने रुपए वापस ट्रांसफर कर दिए।

दिल्ली में मेडिकल कराया, लेकिन तब कोरोना लॉकडाउन लग गया
जनवरी 2020 में इन आरोपियों ने कहा कि मग्घर सिंह को जल्दी विदेश भेजना है। वो तुरंत आधे रुपए ट्रांसफर कर दें। मग्घर के दूसरे भाई बलविंदर ने अपने खाते से सुखविंदर के भाई जसमेल सिंह के खाते में 6 लाख रुपए ट्रांसफर कर दिए। रुपए लेने के बाद आरोपियों ने मग्घर सिंह का दिल्ली स्थित अल खैर डायग्नोस्टिक सेंटर प्रा. लि. से मेडिकल करा दिया। मार्च 2020 में तब तक कोरोना लॉकडाउन लग गया। जिस वजह से मग्घर विदेश न जा सका। इसके बाद उन्होंने रुपए वापस मांगे तो आरोपी टाल-मटोल करने लगे।

पुलिस की मौजूदगी में समझौते के वक्त एक भाई ने दूसरे के चेक साइन कर पकड़ा दिए
उन्होंने इस संबंध में पुलिस को शिकायत कर दी। जिसमें पुलिस के सामने ही समझौता हो गया। उन्होंने 50 हजार रुपए नकद व बाकी 5.50 लाख के चेक काटकर दे दिए। उन्होंने चेक बैंक में लगाए तो पता चला कि चेक जसमेल सिंह के नाम पर हैं, जबकि उस पर साइन सुखविंदर सिंह ने किए हैं। इस वजह से बैंक से चेक कैश नहीं हुए। इसके बाद पुलिस ने आरोपी लुधियाना के जगराओं स्थित अगवाड़ गांव के भाईयों सुखविंदर सिंह व जसमेल सिंह और उनके साथी डोगर लाल निवासी कडियाना पर केस दर्ज कर लिया है।

खबरें और भी हैं...