पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61350.260.63 %
  • NIFTY18268.40.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479750.13 %
  • SILVER(MCX 1 KG)65231-0.33 %

सेहत विभाग ने नोटिफिकेशन किया जारी:सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों को निर्देश स्क्रब टाइफस के संदिग्ध मरीजों की सूचना दें

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

स्क्रब टाइफस के मामलों को लेकर सेहत विभाग ने वीरवार को नोटिफिकेशन जारी कर दी है कि अगर जिले के किसी भी सरकारी या प्राइवेट हेल्थ केयर सेंटर में स्क्रब टाइफस का कोई संदिग्ध मामला भी आता है तो उसकी जानकारी तुरंत सिविल सर्जन दफ्तर के आईडीएसपी विभाग को भेजी जाए। वहीं, एपिडिमोलॉजिस्ट डाॅ. शोभना बांसल का कहना है कि किसी भी मरीज की एंटीजन पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर उसका टेस्ट हेडक्वार्टर भेजा जाएगा। उसके बाद विभाग के अधीन आने वाली लैब में संबंधित मरीज का स्क्रब टाइफस का टेस्ट किया जाएगा।

दूसरी तरफ सिविल अस्पताल की भी मेडिकल सुपरिंटेंडेंट को भी स्क्रब टाइफस के मामलों की भी जांच करने के लिए कहा दिया गया है। फिलहाल वीरवार को शहर के किसी भी सरकारी और प्राइवेट अस्पताल में स्क्रब टाइफस का कोई नया मामला सामने नहीं आया है। सेहत विभाग की एंटी लारवा ब्रांच की तरफ से वीरवार को शहर के विभिन्न एरिया में सर्वे किया गया। कर्मचारियों ने 3 जगह डेंगू का लारवा नष्ट किया है। डाॅक्टर्स का

कहना है कि घरों में पड़े कूलरों में साफ पानी को जमा न होने दें। इसके अलावा बाहर का खाना खाने से भी लोगों को बचना चाहिए। वहीं, वीरवार को जिला प्रशासन के दफ्तर में डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी की तरफ से नगर निगम और सेहत विभाग को जाॅइंट सर्वे करने के लिए कहा है। इसके चलते डोर-टू-डोर सर्वे करके लोगों को डेंगू की बीमारी के बारे में भी जागरूक किया जाएगा।

बुखार होने पर खुद एंटीबायोटिक न लें
सेहत विभाग की तरफ से स्क्रब टाइफस को लेकर लोगों से अपील की गई है कि वे किसी भी तरह का बुखार होने पर सेल्फ मेडिकेशन न करें। न ही घर में रखे एंटीबायोटिक अपनी मर्जी से न खाएं। शरीर में ज्यादा एंटीबायोटिक जाने के कारण पेट के रोगों से जूझना पड़ सकता है। साथ ही बरसात के मौसम का आखिरी पड़ाव में है, इस समय बैक्टीरियल इन्फेक्शन के साथ सीजन बीमारियां भी लोगों को हो सकती है। बुखार होने पर किसी स्पेशलिस्ट के पास जाएं, नहीं तो सरकारी अस्पताल में इलाज करवाएं। वहीं, सेहत विभाग ने सभी अस्पतालों को भी आदेश दिए है कि स्क्रब टाइफस के संदिग्ध मरीज मिलने पर तुरंत सेहत विभाग को जानकारी दें।

खबरें और भी हैं...