पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शताब्दी एक्सप्रेस पर पत्थरबाजी:जालंधर से अमृतसर जा रही ट्रेन के 15 शीशे टूटे, पत्थर मारने वाले 5 युवक गिरफ्तार

जालंधर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पत्थर मार कर शताब्दी ट्रेन के शीशे तोड़ने वाले आरोपी पुलिस पार्टी के साथ - Money Bhaskar
पत्थर मार कर शताब्दी ट्रेन के शीशे तोड़ने वाले आरोपी पुलिस पार्टी के साथ

जालंधर रेलवे पुलिस ने पिछली रात दिल्ली से आई शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन पर पत्थर मारने वाले पांच युवकों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने इन्हें कोर्ट में पेश किया, जहां कोर्ट ने इन्हें 1 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

जानकारी के मुताबिक बीती रात करीब 9:15 बजे शताब्दी एक्सप्रेस जैसे ही जालंधर सिटी स्टेशन से अभी अमृतसर की तरफ निकली तो काजी मंडी के पास ट्रेन पर पथराव शुरू हो गया। इस पथराव में हालांकि किसी को चोट तो नहीं लगी, लेकिन प्रीमियम ट्रेन के 15 शीशे टूट गए। ट्रेन में सवार स्टाफ ने तुरंत इसकी सूचना रेलवे पुलिस को दी। रेलवे पुलिस मौके पर पहुंची और अराजक तत्वों की तलाश शुरू की।

इतने में ही पुलिस को अपने मुखबिर तंत्र से सूचना मिली कि ट्रेन पर पथराव करने वाले काजी मंडी के थे। पुलिस ने पता चलते ही काजी मंडी में दबिश दी और तीन युवकों को राघवेंद्र, दीपक और रितिक वर्मा को गिरफ्तार कर लिया। इनसे पूछताछ के बाद इनके दो और साथियों अश्विनी उर्फ कालिया और विक्की को गिरफ्तार किया गया, जबकि एक साथी अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

दो गुटों में चले पत्थर तोड़ दिए ट्रेन के शीशे

अराजक घटनाओं और नशे के लिए बदनाम रेलवे यार्ड के साथ लगती काजी मंडी में दो गुटों के आपसी विवाद हुआ था। विवाद इतना बढ़ गया कि रेलवे लाइनों के पास दोनों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। इसी बीच दिल्ली से अमृतसर जा रही शताब्दी ट्रेन संख्या 12013 आ गई। पत्थरबाजी के दौरान पत्थर ट्रेन पर लगे और ट्रेन के पंद्रह शीशे टूट गए। हालांकि बचाव यह रहा की ट्रेन में किसी यात्री को चोट नहीं लगी। बहरहाल पुलिस ने पत्थरबाजी करने वाले छह आरोपियों में से पांच को पकड़ लिया है और एक अभी फरार है।